Home » इंडिया » Ex-Home Secretary Revealed: Government know that Israeli firm NSO is working in India
 

पूर्व गृह सचिव का खुलासा: सरकार को पता है कि इजरायली फर्म NSO भारत में काम कर रही है

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2019, 16:00 IST

पूर्व गृह सचिव जीके पिल्लई का कहना है कि वह जानते थे कि भारत में इजरायली टेक फर्म एनएसओ काम कर रही है. न्यूज़ वेबसाइट द क्विंट को पिल्लई ने बताया कि उन्हें पता है कि इजरायली कंपनी भारत में इस जासूसी सॉफ्टवेर को निजी कंपनियों को बेचती है. पूर्व गृह सचिव ने यह भी स्पष्ट किया कि पहले भी भारत सरकार ने एनएसओ जैसी निजी कंपनियों से इस तरह की तकनीक को खरीदा है.

इससे पहले व्हाट्सएप ने कहा था कि एनएसओ द्वारा बनाये गए पेगासस स्पाईवेयर से दुनियाभर में तकरीबन 1400 लोगों की जासूसी की गई, जिसमें कई भारतीय पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता भी शामिल थे. पूर्व गृह सचिव ने कहा कि एनएसओ इस तकनीक को सिर्फ सरकार द्वारा मान्यताप्राप्त इंटेलीजेन्स संस्थाओं और लॉ इन्फोर्समेंट एजेंसियों को बेचता है.

उन्होंने कहा कि बिना गृह सचिव की अनुमति के बिना किसी व्यक्ति की निगरानी नहीं की जा सकती है. पिल्लई ने यह भी खुलासा किया कि साल 2009 से 2011 के दौरान जब वह गृह सचिव थे, तब केंद्र सरकार ने लगभग 4000 से 8000 लोगों की निगरानी की थी. सरकार ने इस मामले में व्हाट्सएप से स्पष्टीकरण मांगा था.

हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार व्हाट्सएप ने बताया कि इस साल मई में सुरक्षा मुद्दे के बारे में सरकार को सूचित किया था. व्हाट्सएप ने कहा '' मई में हमने सुरक्षा मुद्दे को हल किया और संबंधित भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय सरकारी अधिकारियों को सूचित किया था. तब से हमने निशाना बनाये गए उपयोगकर्ताओं की पहचान करने के लिए काम किया है ताकि अदालतों को NSO समूह के स्पाईवेयर की जानकारी दी जा सके''.

एक बार में 50 स्मार्टफोन्स की जासूसी कर सकता है इजरायली स्पाई पेगासस, ये है कीमत

First published: 2 November 2019, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी