Home » इंडिया » EXCLUSIVE: Party has been formed by my father, i will not allow its burial
 

EXCLUSIVE: 'पार्टी मेरे पिता ने बनाई है, ख़त्म नहीं होने दूंगा'

शाहनवाज़ मलिक | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST
QUICK PILL
  • समाजवादी पार्टी में एक बार फ़िर बड़ा उलटफ़ेर करते हुए अखिलेश यादव ने बाग़ी गुट के मंत्रियों और अपने चाचा अखिलेश यादव को मंत्रिमंडल से बर्ख़ास्त कर दिया है. 
  • उन्होंने अमर सिंह पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि जो उनके साथ जाएगा, पार्टी उन्हें बर्दाश्त नहीं करेगी. 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने निवास 5 कालीदास मार्ग पर सपा के विधायकों को 11 बजे संबोधित किया है. इस बैठक में मौजूद एक विधायक ने कैच न्यूज़ पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा दिया है. उसके महत्वपूर्ण बिंदुओं को हम यहां जस का तस रख रहे हैं. 

1- अखिलेश यादव ने 11 बजे सभी विधायकों को संबोधित किया.  

2- सबसे पहले उन्होंने अपने चाचा शिवपाल यादव जो विरोधी गुट के अगुवा हैं, उन्हें मंत्रिमंडल से बर्ख़ास्त किया लेकिन उनके ख़िलाफ़ कुछ बोले नहीं. 

3- उन्होंने पांच अन्य मंत्रियों नारद राय, ओमप्रकाश सिंह, शादाब फ़ातिमा, गायत्री प्रसाद प्रजापति, मदन सिंह चौहान को भी बर्ख़ास्त किया. सभी मंत्री शिवपाल यादव गुट के माने जाते हैं जबकि मदन सिंह चौहान अमर सिंह के ख़ासमख़ास हैं.  

4- मुख्यमंत्री आवास में इस वक़्त गायत्री प्रसाद प्रजापति मौजूद हैं. हाल ही में उनके ऊपर रेप का एक मुक़दमा दर्ज हुआ है. मुमकिन है कि उनकी यहीं से गिरफ़्तारी हो जाए. हज़रतगंज पुलिस मुख्यमंत्री निवास पहुंच चुकी है.  

5- मुख्यमंत्री ने अमर सिंह का नाम लेकर कहा कि इसकी साज़िश कामयाब नहीं होने दूंगा. बीजेपी से मिला हुआ है. घर में आग लगाई है. जो अमर सिंह का साथ देगा, उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.  

6- पार्टी मेरे पिता ने मेहनत से खड़ी की है, मैं इसे ख़त्म नहीं होने दूंगा. 

7- पिता के बारे में बोलते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश भावुक हो गए. कैच से बात करने वाले विधायक ने कहा कि इस दौरान बैठक में कई विधायक और मंत्री की आंखें भी भर आईं. 

8- उन्होंने अपना भाषण यह कहते हुए ख़त्म किया कि कल यानी कि 24 अक्टूबर को उनके पिता और पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव ने विधायकों की बैठक बुलाई है, उसमें भी जाऊंगा और पार्टी के रजय जयंती स्थापना समारोह में भी शामिल होऊंगा. 

First published: 23 October 2016, 12:47 IST
 
शाहनवाज़ मलिक @catchhindi

स्वतंत्र पत्रकार

पिछली कहानी
अगली कहानी