Home » इंडिया » Farm Bill 2020: Karnataka closed after Punjab, tractor fire in front of India Gate
 

Farm Bill 2020 : पंजाब के बाद आज कर्नाटक बंद, दिल्ली में इंडिया गेट के सामने ट्रैक्टर में लगाई आग

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2020, 10:10 IST

Farm Bill 2020: : पजाब से लेकर कर्नाटक तक किसान नए कृषि बिलों के विरोध में सडकों पर हैं. अब यह आंदोलन दिल्ली तक पहुंच गया है. आज इंडिया गेट के पास कुछ अज्ञात लोगों ने एक ट्रैक्टर में आग लगा दी. नई दिल्ली के DCP का कहना है, "करीब 15-20 लोग इकट्ठा हुए और एक ट्रैक्टर में आग लगाने की कोशिश की. आग बुझा दी गई है और ट्रैक्टर को भी हटा दिया है. घटना में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है, जांच चल रही है."

ANI के अनुसार पंजाब यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इंडिया गेट के पास FarmLaws के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए एक ट्रैक्टर को आग लगा लगाई. कर्नाटक में भी कृषि बिलों का विरोध हो रहा है. राज्य में किसान संगठनों ने आज बंद का आवाहन किया है. हुबली में प्रदर्शनकारी बंद का समर्थन करने के लिए दुकानदारों को फूल दे रहे हैं.


आज कर्नाटक बंद 

कर्नाटक राज्यसभा संघ (KRRS) और अन्य किसान संगठनों ने सोमवार को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है. इस बीच सरकार ने बेंगलुरु में लगभग 12,000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया है. कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम (KSRTC) ने कहा है कि उसकी सभी सेवाएं सामान्य रूप से चलती रहेंगी, और विरोध प्रदर्शन की स्थिति में यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस तैनात की गई है.

ओला और उबर ड्राइवर्स एंड ओनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष तनवीर पाशा ने कहा "हम बंद का समर्थन कर रहे हैं, और कैब सेवाएं 6 बजे से शाम 6 बजे के बीच बंद हो जाएंगी. होटल और सब्जी विक्रेताओं को भी कहा जाता है कि उन्होंने बंद को समर्थन दिया और स्वेच्छा से अपना व्यवसाय बंद कर दिया.

कृषि बिलों के विरोध में केंद्र में एनडीए की एक मुख्य सहयोगी अकाली दल ने अलग होने का फैसला किया है. शिवसेना के मुखपत्र सामना के आज के संपादकीय लिखा गया है कि पंजाब के अकाली दल ने भी NDA छोड़ दिया है. चलो अच्छा हुआ पीछा छूटा की तर्ज पर उनका इस्तीफा तुरंत स्वीकार कर लिया गया. उन्हें लगा था कि उनसे कहा जाएगा कि वे विचलित न हों, ऐसा कदम न उठाएं लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ''.

सामना ने लिखा ''केंद्र सरकार की सत्ता हाथ में है तो कुछ भी असंभव नहीं है, लेकिन सत्ता का ‘किला’ भले जीत लिया हो पर वे NDA के दो शेरों को गंवा चुके हैं, इस तथ्य से कैसे इनकार किया जा सकता है?''

PM Cares fund: RTI से खुलासा- 7 सरकारी बैंकों सहित इन संस्थाओं ने अपने कर्मचारियों की सैलरी से दिए 204.75 करोड़

First published: 28 September 2020, 9:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी