Home » इंडिया » Farmers Protest: Farmer's movement on Tikri, Ghazipur border continues on 65th day, issue likely to arise in Parliament too
 

Farmers Protest : गाजीपुर बॉर्डर से टिकैत बोले- हम प्रदर्शन स्थल खाली नहीं करेंगे, संसद में भी उठेगा मुद्दा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2021, 11:32 IST

Farmers Protest : कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर में किसानों का आंदोलन आज 65वें दिन भी जारी है. ANI के अनुसार भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि हम प्रदर्शन स्थल खाली नहीं करेंगे, हम पहले अपने मुद्दों पर भारत सरकार से बात करेंगे. गुरुवार रात को गाजीपुर धरना स्थल पर भारी संख्या में पुलिस बल और फोर्स तैनात की गई थी. पुलिस ने धरना स्थल खाली करने के निर्देश दिये थे. बड़ी संख्या में किसानों ने यहां से जाना शुरू कर दिया था.

राकेश टिकैत की अपील के बाद रात को ही हरियाणा और पश्चिमी यूपी से बड़ी संख्या में किसानों ने यहां आना शुरू कर दिया. राकेश टिकैत इस दौरान भावुक हो गए और रोते हुए मीडिया से बोले '' हमारे खिलाफ साजिश की जा रही है''. टिकैत ने कहा ''जब तक सरकार से बात नहीं होगी धरणा प्रदर्शन समाप्त नहीं होगा. जब तक गांव के लोग ट्रैक्टरों से पानी नहीं लाएंगे, पानी नहीं पीऊंगा. प्रशासन ने पानी हटा दिया, बिजली काट दी, सारी सुविधा हटा दी.''


किसानों के आंदोलन का मुद्दा आज संसद में भी उठने की संभावना है. गाज़ीपुर बाॅर्डर से राष्ट्रीय लोकदल के नेता जयंत चौधरी ने कहा ''आज संसद के सत्र का पहला दिन है और ये मुद्दा संसद के अंदर भी उठना चाहिए. अगर सरकार पीछे हटती है तो इससे उनकी कमजोरी नहीं झलकेगी. प्रधानमंत्री सब विषयों पर बोलते हैं, किसान के बारे में भी बोल दें.''

आप नेता संजय सिंह ने ट्वीट किया ''आम आदमी पार्टी भी इस मुद्दे को संसद में उठाएगी. राकेश टिकैत जी से फ़ोन पर बात हुई.  @ArvindKejriwal जी और AAP पूरी तरह किसानो के साथ हैं टिकैत जी बोले “किसानो के साथ सरकार ने ग़द्दारी की है किसानो पर हमले की साज़िश है प्रशासन ने पानी बंद करा दिया शौचालय तक हटवा दिया” तानाशाही मुर्दाबाद कल संसद में AAP किसानो का मुद्दा उठायेगी''. 

यूपी गेट के विरोध स्थल को खाली करने के लिए गाजियाबाद प्रशासन के अल्टीमेटम के बावजूद भारतीय किसान यूनियन के सैकड़ों सदस्य शुक्रवार को तड़के दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर रुके. गाजीपुर में यूपी गेट पर भी टकराव की स्थिति बन रही थी, क्योंकि विरोध स्थल पर शाम को अक्सर बिजली कटौती देखी गई. जहां बीकेयू के सदस्य राकेश टिकैत की अगुवाई में 28 नवंबर से ठहरे हुए हैं.

आधी रात के बाद की स्थिति की समीक्षा में गाजियाबाद के जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडे और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने विरोध स्थल का दौरा किया, यहां तक कि सैकड़ों सुरक्षाकर्मियों को गुरुवार को तैनात किया गया था. उत्तर भारत के प्रभावशाली किसान संघ, बीकेयू के आह्वान पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश 500 प्रदर्शनकारी यूपी गेट पर आये.

एक रिपोर्ट के अनुसार गाजियाबाद के एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया "विरोध स्थल से अतिरिक्त सुरक्षा बल हटा लिया गया है और केवल एक जवान की तैनाती है." अधिकारी ने कहा "गुरुवार शाम से बल की अत्यधिक तैनाती के कारण यूपी गेट पर तनाव बढ़ रहा था." कई प्रदर्शनकारियों ने जय जवान, जय किसान के नारे लगाते हुए तिरंगा लहराया.

Budget 2021: आज से बजट सत्र शुरू, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी आर्थिक सर्वे- 2020-21

First published: 29 January 2021, 11:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी