Home » इंडिया » Farmers Protest: Hunger Strike of farmers in Delhi Borders against New agriculture laws
 

Farmers Protest: कृषि कानूनों के विरोध में किसानों की आज भूख हड़ताल, सभी जिलों में धरना

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 December 2020, 8:53 IST

Farmers Protest: नए कृषि कानूनों के विरोध में चला आ रहा किसानों का विरोध (Farmers Protest) अभी भी कम नहीं हुआ है. सोमवार को लगातार 19वीं दिन भी पंजाब, हरियाणा और यूपी के किसान दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं और लगातार नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. इसी के चलते आज किसान भूख हड़ताल करेंगे. अभी तक किसानों के इस आंदोलन में सरकार और किसानों के बीच कोई भी रास्ता नहीं निकला है. ऐसे में किसानों का ये प्रदर्शन और भी तेज होता जा रहा है. दिल्ली के बॉर्डर पर किसान अलग-अलग स्थानों पर अनशन पर बैठे हुए हैं.

इसी बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी किसानों का साथ देने की बात कही है. इसीलिए केजरीवाल भी किसानों के साथ उपवास पर रहेंगे. बता दें कि नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान पिछले 19 दिनों से दिल्ली के सिंघु, टिकरी, पलवल, गाजीपुर की सीमाओं पर डटे हुए हैं. आज यानी सोमवार को किसानों ने सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक भूख हड़ताल शुरु कर दी है. इसी के साथ देशभर में टोल नाकों को आज मुफ्त कर दिया गया है.


उधऱ, राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच ने कृषि कानून में कुछ सुधार सुझाए हैं. स्वदेशी जागरण मंच का कहना है कि एमएसपी (MSP) से कम दाम पर फसलों की खरीद को अवैध करार कर दिया जाना चाहिए, इसके साथ ही ऐसे लोगों के खिलाफ सजा का प्रावधान होना चाहिए. स्वदेशी जागरण मंच का ये भी कहना है कि सिर्फ सरकार को ही नहीं बल्कि निजी कंपनियों को भी फसलों को एमएसपी से कम रेट पर फसलों की खरीद पर रोक लगा देनी चाहिए.

RBI ने दिया बड़ा तोहफा- अब 24 घंटे कर पाएंगे RTGS से पैसे ट्रांसफर

चीन की इस कोरोना वैक्सीन को पाकिस्तान, इंडोनेशिया सहित इन देशों ने दी मंजूरी, जानिए कितनी है प्रभावी

वहीं दूसरी ओर बीजेपी नए कृषि कानूनों के फायदे गिनाने की कोशिश कर रही है. उत्तर प्रदेश में बीजेपी कृषि कानून 2020 के फायदों के बारे में बताने के लिए कई जिलों में किसान सम्मेलन करेगी. बीजेपी का यह सम्मेलन सोमवार 14 दिसंबर से शुरू होकर 18 दिसंबर तक चलेगा. उत्तर प्रदेश बीजेपी के महासचिव गोविंद नारायण शुक्ला के मुताबिक, बीजेपी के प्रमुख राधा मोहन सिंह अयोध्या और बस्ती में किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे. वहीं, गोंडा में स्वतंत्र देव सिंह और केशव प्रसाद मौर्य कृषि कानून 2020 को लेकर वाराणसी में किसानों को संबोधित करेंगे.

Farmers Protest : किसानों के समर्थन में कल उपवास रखेंगे केजरीवाल, लोगों से भी की अपील

First published: 14 December 2020, 8:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी