Home » इंडिया » Farooq Abdullah says jinnah didnt want separate country, Nehru Patel was responsible for division
 

फारुक अब्दुल्ला ने भारत विभाजन के लिए नेहरू-पटेल को बताया जिम्मेदार

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2018, 9:32 IST

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने भारत विभाजन के लिए जिन्ना को नहीं बल्कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहल लाल नेहरू और पूर्व गृह मंत्री सरदार पटेल को जिम्मेदार बताया. फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि देश के बंटवारे के लिए कांग्रेसी नेता जिम्मेदार थे. फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार को विवादित बयान देते हुए कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना नहीं चाहते थे मुसलमानों के देश का बंटवारा होकर पाकिस्तान बने.

फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि भारतीय नेताओं ने मुस्लिम और सिखों के लिए 'माइनॉरिटी स्टेटस' देने से मना कर दिया जिसके बाद पाकिस्तान की मांग उठी.

 

उन्होंने शनिवार को कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना पाकिस्तान बनाने वाले नहीं थे. उन्होंने कहा, 'कमीशन आया, उसमें फैसला किया गया कि हिंदुस्तान का बंटवारा नहीं करेंगे. हम मुसलमानों के लिए विशेष प्रतिनिधित्व रखेंगे. सिखों व अन्य अल्पसंख्यकों को विशेष प्रतिनिधित्व देंगे मगर मुल्क का बंटवारा नहीं करेंगे.'

पढ़ें- मायावती, अखिलेश साथ-साथ, BSP ने फूलपुर और गोरखपुर उपचुनाव में सपा का किया समर्थन!

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि जिन्ना ने इसे मान लिया था लेकिन जवाहरलाल नेहरू, मौलाना आजाद और सरदार पटेल ने इसे नहीं स्वीकार किया.

इसके बाद से ही मोहम्मद अली जिन्ना ने मुसलमानों के लिए पाकिस्तान बनाने की मांग की. उन्होंने कहा कि अगर उस वक्त कमीशन की शर्तें मान ली गई होती तो आज भारत का विभाजन ना हुआ होता और आज पाकिस्तान, बांग्लादेश और भारत नहीं बल्कि एक हिंदुस्तान होता.

First published: 4 March 2018, 9:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी