Home » इंडिया » Father tom reaches india after spending more than one year in ISIS camp
 

डेढ़ साल तक इस्लामिक स्टेट के कैंप में था मोदी के साथ खड़ा यह शख़्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2017, 13:52 IST

अपनी क्रूरताओं के लिए कुख्यात इस्लामिक स्टेट के चंगुल में डेढ़ साल तक रहे भारत के एक पादरी सकुशल वापस आ गए हैं. कैथोलिक पादरी टॉम केरल के रहने वाले हैं और गुरुवार सुबह भारत पहुंचे. पादरी ने दिल्ली हवाईअड्डे पर उन सभी लोगों के प्रति आभार जताया जिन्होंने उनकी रिहाई में मदद की.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "मैं बहुत खुश हूं. इस दिन को संभव बनाने के लिए ईश्वर का धन्यवाद. मैं उन सभी लोगों का आभारी हूं जिन्होंने मेरी सुरक्षित रिहाई के लिए अपने-अपने स्तर से काम किया." इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की जहां पीएम ने उनका हालचाल लिया. इसके बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पादरी को गुलदस्ता देते हुए मोदी की एक तस्वीर साझा की.

आतंकवादियों ने पिछले साल मार्च में यमन के अदन शहर में मिशनरीज ऑफ चैरिटी के एक वृद्धाश्रम पर हमला कर मिशनरीज की चार ननों समेत कई लोगों की हत्या कर दी थी और फादर टॉम को बंधक बना लिया था. ओमान के शाह के हस्तक्षेप से टॉम की रिहाई संभव हुई है.

First published: 28 September 2017, 13:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी