Home » इंडिया » Finmeccanica to reconsider business in India if blacklisted
 

ब्लैक लिस्ट करने पर भारत से कारोबार समेटेगी फिनमेकैनिका !

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

रक्षा सौदों से जुड़ी इटली की कंपनी फिनमेकैनिका, ब्लैक लिस्ट किए जाने की सूरत में भारत से अपना कारोबार समेट सकती है. फिनमेकैनिका, अगस्ता वेस्टलैंड की मदर कंपनी है, जिस पर भारत में करीब 3600 करोड़ रुपये की वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील में भ्रष्टाचार का आरोप है.  

केंद्र सरकार ने इतालवी कंपनी फिनमेकैनिका को मिले सभी मौजूदा रक्षा उपकरण टेंडर रद्द करने का फैसला लिया है. माना जा रहा है कि कंपनी को ब्लैक लिस्ट में डालने के लिए सरकार ने ये कदम उठाया है.

अगस्ता वेस्टलैंड पर 2010 में हेलीकॉप्टर डील का कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने के लिए भारत में अधिकारियों को दलाली देने का आरोप है. इटली की मिलान कोर्ट ऑफ अपील्स ने पूर्व वायुसेनाध्यक्ष एसपी त्यागी को इस मामले में भ्रष्टाचार का दोषी माना था.

फिनमेकैनिका ने जारी किया बयान

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा था कि फिनमेकैनिका और इससे जुड़ी कंपनियों को काली सूची में डालने की प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है. पर्रिकर ने कहा था कि फिनमेकैनिका और इसके सहयोगियों से जहां कहीं भी पूंजीगत खरीद होगी, उन सभी प्रस्ताव के आग्रह (आरएफपी) रद्द किए जाएंगे.

फिनमेकैनिका ने बयान जारी करते हुए कहा, "भारत में उसका कारोबार बेहद मामूली है. कंपनी उम्मीद करती है कि सहमति से इस मुद्दे का पारदर्शी हल निकाल लिया जाएगा, जिसमें वर्तमान प्रक्रिया और भविष्य की कारोबारी संभावनाओं का ध्यान रखा जाएगा. अगर ऐसा नहीं होता है, तो कंपनी देश में फैले अपने सीमित कारोबार के बारे में मूल्यांकन करने से खुद को रोक नहीं पाएगी."

काली सूची में डालने की तैयारी

मॉरो मॉरेटी ने मई 2014 में फिनमेकैनिका के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) की जिम्मेदारी संभाली थी. अपने कार्यकाल में वो कंपनी की छवि और काम में पारदर्शिता पर जोर दे रहे हैं.

हालांकि रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि फिनमेकैनिका से पहले खरीदे जा चुके रक्षा उपकरणों के कल-पुर्जों का आयात और सालाना रख-रखाव का अनुबंध बना रहेगा. केवल नए पूंजीगत सामान के अधिग्रहण के टेंडर खत्म किए जाएंगे.

पर्रिकर ने कहा कि अगर किसी कंपनी को तय साल के लिए काली सूची में डाला जाता है, तो रक्षा मंत्रालय उस कंपनी से उतनी अवधि में पूंजीगत खरीद का कोई सौदा नहीं करेगा. पर्रिकर ने दोहराया कि रक्षा कंपनी से किसी तरह का नया सौदा पहले ही स्थगित कर दिया गया है.

First published: 31 May 2016, 5:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी