Home » इंडिया » first election in 52 years for international president of Vishva hindu parishad
 

52 साल के इतिहास में पहली बार हो रहा है VHP के अध्यक्ष पद का चुनाव, ये है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 April 2018, 11:59 IST

52 साल के इतिहास में पहली बार विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव हो रहा है. हरियाणा के गुरुग्राम में आज (14 अप्रैल) 273 मतदाता वीएचपी के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के लिए अपना वोट डालेंगे. मतदान सुबह 11 बजे से शुरू होगा और चुनाव नतीजे दोपहर ढाई बजे आएंगे. खास बात यह है कि इस चुनाव प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जाएगी.

दरअसल, वर्तमान में वीएचपी के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया के बीजेपी और आरएसएस से रिश्ते के खराब होने के बाद यह चुनाव हो रहा है. चुनाव से पहले तोगड़िया ने आरोप लगाया था कि वीएचपी की वोटर लिस्ट में 37 फर्जी वोटर हैं. हालांकि परिषद के महामंत्री चंपत राय ने साफ किया कि प्रवीण तोगड़िया के साथ आए कुछ बाहरी लोगों ने वीएचपी के दफ्तर आरके पुरम में आकर धक्का-मुक्की की और चुनाव को बाधित करने का प्रयास किया.

चंपत राय ने कहा कि धक्का-मुक्की इसलिए की गई, ताकि बाहर से आने वाले लोग भ्रमित हो जाएं और चुनाव में वोट डालने ना आ पाए. वीएचपी के संयुक्त महासचिव सुरेंद्र जैन ने बताया कि ये चुनाव इसलिए हो रहा है क्योंकि एक वर्ग ने संगठन के पद में बदलाव की बात कही और दूसरे वर्ग ने पद छोड़ने से मना कर दिया. विश्व हिंदू परिषद के नए अध्यक्ष के रूप में वी कोकजे पहली पसंद बताए जा रहे हैं.

 

जैन ने बताया कि ये चुनाव निष्पक्ष होगा, जिसकी रिकॉर्डिंग भी कराई जाएगी. जैन ने उस बात को भी मना किया जिसमें यह कहा जा रहा था कि इस चुनाव के लिए आरएसएस का दबाव था. उन्होंने कहा कि ये कहना गलत होगा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने चुनाव का दबाव बनाया. उन्होंने कहा कि विश्व हिंदू परिषद एक स्वायत्त संस्था है.

पढ़ेंं- PM मोदी बोले- बाबासाहेब को नेहरूजी ने हरवाया था चुनाव, श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भेजा था राज्यसभा

बता दें कि प्रवीण तोगड़िया के प्रधानमंत्री मोदी के साथ रिश्ते ठीक नहीं हैं. समय-समय पर वो मोदी सरकार की आलोचना करते रहे हैं. माना जा रहा है कि पूरे चुनाव पर नजर रखने के लिए संघ के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहेंगे. तोगड़िया इस वक्त विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष हैं और राघव रेड्डी अध्यक्ष हैं. दोनों का कार्यकाल पिछले साल ही खत्म हो चुका है.

First published: 14 April 2018, 11:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी