Home » इंडिया » Flood toll in assam bihar crosses 170 killed and 1.25 crore affected
 

बिहार और असम में बाढ़ का कहर जारी, अबतक 170 लोगों की मौत, 1.25 करोड़ लोग प्रभावित

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2019, 9:05 IST

दिल्ली एनसीआर में भले ही मानसून बारिश ने लोगों को निराश किया हो, लेकिन बिहार और पूर्वोत्तर के राज्य असम में बाढ़ ने कहर बराया हुआ है. दोनों राज्यों में भारी बारिश के चलते आई बाढ़ ने अबतक 170 लोगों को मौत की नींद सुला दिया है. बाढ़ ने असम और बिहार में जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. बाढ़ के चलते दोनों राज्यों में एक करोड़ 25 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

बिहार के 12 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं. जहां अबतक 104 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं असम के 18 जिलों में बाढ़ ने सबसे अधिक कहर बरपाया है. यहां 66 लोगों की मौत हो चुकी है. बिहार के 12 जिलों में आई बाढ़ के चलते अबतक 76 लाख 85 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

आपदा प्रबंधन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार के 12 जिलों शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया एवं कटिहार शामिल हैं. जहां अबतक 104 लोगों की मौत हो गई है और 76 लाख 85 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हैं.

बिहार में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 102 हो गई है. इनमें सीतामढी में 27 , मधुबनी में 23, अररिया में 12, शिवहर और दरभंगा में 10-10, पूर्णिया में 9, किशनगंज में 5, सुपौल में 3, पूर्वी चंपारण और मुजफ्फरपुर में 2-2 और सहरसा में लोग शख्स की मौत हुई है. इन 12 जिलों में कुल 81 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं जहां 76,400 लोग शरण लिए हुए हैं और उनके भोजन की व्यवस्था के लिए 712 सामुदायिक रसोई चलाई जा रही हैं.

वहीं बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 26 टीमों को लगाया गया है. लोगों को निकालने के लिए 125 मोटरबोट का इस्तेमाल किया जा रहा है. केंद्रीय जल आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार की कई नदियों में पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है. जिनमें बूढ़ी गंडक, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, कोसी, महानंदा और परमान नदी शामिल है.

वगीं असम में बाढ़ में मरने वालों की संख्या सोमवार तक 66 हो गई. यहां बाढ़ से अभी तक राहत मिलने की कोई उम्मीद दिखाई नहीं दे रही है. असम के 33 में से 18 जिलों बाढ़ ने कहर बरपा रखा है. जिससे 30 लाख 55 हजार लोग प्रभावित हुए हैं. इसके अलावा बाढ़ के चलते काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में 16 गेंडों समेत 187 जानवरों की भी मौत हो चुकी है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बाढ़ को लेकर कहा है कि जिला प्रशासनों ने 757 राहत शिविर और राहत वितरण केन्द्र बनाए हैं जिनमें कुल 96,890 विस्थापित लोगों को रखा गया है.

कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के ट्रंप के दावे को भारत ने बताया झूठा, कहा- कभी नहीं मांगी अमेरिका से मदद

First published: 23 July 2019, 9:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी