Home » इंडिया » Floor test cross voting: Uttarakhand assembly speaker Govind Kunjwal cancels membership of BJP MLA Bhim Lal Arya and Congress MLA Rekha Arya
 

उत्तराखंड: क्रॉस वोटिंग पर दो विधायकों की सदस्यता रद्द

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2016, 16:51 IST
(फाइल फोटो)

उत्तराखंड विधानसभा में 10 मई को हुए शक्ति परीक्षण के दौरान क्रॉस वोटिंग करने वाले दो विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी गई है. स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल ने ये फैसला लिया है.

विधानसभा अध्यक्ष कुंजवाल ने भारतीय जनता पार्टी के विधायक भीमलाल आर्य और कांग्रेस की विधायक रेखा आर्य को अयोग्य ठहराया है. दोनों विधायकों ने बहुमत परीक्षण से ठीक पहले पाला बदल लिया था.

रेखा आर्य ने पार्टी व्हिप के खिलाफ जाते हुए बहुमत परीक्षण के दौरान बीजेपी खेमे का साथ दिया था, जबकि बीजेपी विधायक भीमलाल आर्य ने पाला बदलते हुए हरीश रावत का शक्ति परीक्षण के दौरान साथ दिया था.

रावत ने हासिल किया था बहुमत

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उत्तराखंड विधानसभा में 10 मई को बहुमत परीक्षण हुआ था. इस दौरान दो घंटे के लिए राष्ट्रपति शासन हटा लिया गया था. शक्ति परीक्षण की रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में सौंपी गई थी.

बहुमत परीक्षण में जीत हासिल करने के बाद हरीश रावत ने 11 मई को दोबारा राज्य के मुख्यमंत्री की कमान संभाली थी. राज्य में 27 मार्च को राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था. 18 मार्च को वित्त विधेयक पर विपक्ष और नौ कांग्रेसी विधायकों ने मत विभाजन की मांग की थी.

स्पीकर कुंजवाल ने वोटिंग की मांग खारिज करते हुए ध्वनि मत से विधेयक पारित बताया था. इस मामले में लगातार चले सियासी उठापटक के बाद केंद्र सरकार ने 27 मार्च को राष्ट्रपति शासन की सिफारिश की थी. 

रावत के बहुमत हासिल करने के बाद कांग्रेस के नौ बागी विधायक हाल ही में बीजेपी में शामिल हो गए थे. ये सभी बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बहुमत परीक्षण में नहीं शामिल हुए थे. उनकी सदस्यता का मामला अभी अदालत में लंबित है.

First published: 9 June 2016, 16:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी