Home » इंडिया » Fodder Scam: Lalu Prasad Yadav sentenced to 7 years in prison in Dumka treasury case by ranchi cbi court
 

चारा घोटाला: CBI कोर्ट ने लालू यादव को सुनाई 7 साल की सजा, 30 लाख जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2018, 11:48 IST

चारा घोटाला से जुड़े दुमका कोषागार से निकासी के मामले में लालू यादव को सात साल की सजा सुनाई गई है. शुक्रवार को इस केस की सुनवाई पूरी हुई थी. यह दुमका कोषागार का चौथा मामला था. कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लालू यादव को सजा सुनाई.

इसके साथ ही 30 लाख का जुर्माना भी भरने को भी कहा गया है. अगर जुर्माना नहीं भरा जाएगा तो इस सूरत में सजा की अवधि एक साल और बढ़ जाएगी. लालू यादव की सजा पर बहस 21, 22 और 23 मार्च को हुई थी. चारा घोटाले के चौथे मामले में विशेष सीबीआई अदालत ने सोमवार (19 मार्च) को लालू प्रसाद को दोषी करार दिया था. 

सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह की अदालत में दुमका कोषागार से निकासी मामले में 19 मार्च को दोषी ठहराये गये सभी 19 लोगों की सजा के बिंदुओं पर बहस पूरी हो गई थी. शुक्रवार को 5 आरोपियों की सजा के बिंदु पर बहस हुई थी. इसके बाद विशेष जज शिवपाल सिंह ने कहा कि वह सजा का ऐलान शनिवार को करेंगे. 

इससे पहले सोमवार को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने दुमका कोषागार से फर्जी बिल बनाकर करोड़ों रुपये की निकासी करने के मामले में आरोपी बनाये गये 31 लोगों में से बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव समेत 19 लोगों को दोषी करार दिया था. हालांकि कोर्ट ने बिहार के एक और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्र समेत 12 लोगों को बरी कर दिया था.

बता दें कि लालू यादव इन दिनों राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) में अपना इलाज करा रहे हैं. रिम्स के डॉक्टरों ने उन्हें एम्स में इलाज कराने की सलाह दी है.

पढ़ें- राज्यसभा चुनाव 2018: चुनाव से पहले सपा-बसपा को झटका, तीन विधायक भाजपा के पाले में

जेल अधीक्षक ने गुरुवार को रिम्स का दौरा किया था. इसके बाद से कयास लगाये जा रहे थे कि लालू प्रसाद को दिल्ली शिफ्ट किया जा सकता है. लेकिन, अब तक इस पर अंतिम फैसला नहीं हो पाया है.

First published: 24 March 2018, 11:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी