Home » इंडिया » Forced to drink phenyl, ragged Dalit student from Kerala struggles to survive
 

कर्नाटक: दलित छात्रा को जबरदस्ती पिलाया टॉयलेट क्लीनर

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2016, 13:18 IST
(सांकेतिक फोटो)

कर्नाटक के गुलबर्गा के अल कमर नर्सिंग स्कूल में रैंगिग के दौरान केरल की रहने वाली 19 साल की नर्सिंग छात्रा को फिनाइल पिलाने का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि छात्रा के कई अंदरूनी अंग और भोजन नली जल गई है, जिससे उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

इस घटना के बाद से पीड़ित दलित छात्रा अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. जानकारी के मुताबिक कॉलेज के सीनियर्स ने रैगिंग के दौरान छात्रा को टॉयलेट क्लीनर पीने के लिए मजबूर किया.

कोझीकोड मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर ने बताया, "सर्जरी करना जरूरी है, क्योंकि उसके अंदरूनी अंगों को काफी नुकसान पहुंचा है, हालांकि इस समय सर्जरी करना लड़की की जान के लिए खतरनाक हो सकता है."

वहीं लड़की के माता-पिता का कहना है कि गुलबर्ग पुलिस ने कथित तौर पर लड़की को फिनाइल पीने के लिए मजबूर करने वाले आठ सीनियर्स छात्रों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया.

दूसरी ओर नर्सिंग स्कूल की प्रिंसिपल ने इसे रैगिंग की घटना से जोड़ने से इनकार किया है. उनका कहना है कि यह रैगिंग का मामला नहीं है. लड़की ने पारिवारिक समस्याओं के चलते फिनाइल पिया.

केरल सरकार में एससी-एसटी और संस्कृति मंत्री एके बलन ने कहा, " केरल सरकार पीड़िता के इलाज का पूरा खर्च उठाएगी." मंत्री ने कहा कि हम इस मामले को कर्नाटक सरकार के सामने भी रखेंगे.

First published: 22 June 2016, 13:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी