Home » इंडिया » Forensic report revealed Same gun used to kill Gauri Lankesh and MM Kalburgi
 

खुलासा: 7.65 MM की बंदूक से मारी गई थी गौरी लंकेश और कलबुर्गी को गोली

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 12:09 IST

कर्नाटक पुलिस के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बेंगलुरु अदालत के समक्ष एक फोरेंसिक रिपोर्ट पेश की है, जिसमे रिपोर्ट में कई चौकाने वाले खुलासे हुए हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि कन्नड़ स्कॉलर एम एम कलबुर्गी और पत्रकार-कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या में एक जैसी 7.65 एमएम की बंदूक का इस्तेमाल हुआ था. यह रिपोर्ट गौरी लंकेश हत्या मामले में एसआईटी द्वारा दायर आरोपपत्र से जुड़ी हुई है .

ऐसा पहली आर हुआ है जब इन दोनों हत्याओं में सरकारी एजेंसी ने संबंधों का आधिकारिक संकेत दिया है. इस मामले में चार्जशीट 30 मई को मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत के समक्ष पेश की गई थी.

 

पुलिस सूत्रों का कहना है कि जांच से पता चलता है कि इन दोनों हत्यारों में किसी एक ही समूह का हाथ हो सकता है. कलबुर्गी (77) की 30 अगस्त 2015 को धारवाड़ और गौरी लंकेश (55) की 5 सितंबर 2017 को बेंगलुरू में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

गौरी लंकेश की हत्या के बाद पुलिस ने उनके शरीर से तीन गोलियों को निकाला था. इस्तेमाल की गई बंदूक में 4 गोलियां ही डाली जाती है.जबकि कलबुर्गी केस में दो गोलियां लगी थी और दो बंदूक में ही रह गई थी.

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार गौरी लंकेश हत्याकांड में गिरफ़्तार केटी नवीन कुमार ने पुलिस को कथित तौर पर दिए अपने बयान में एक दक्षिणपंथी कार्यकर्ता को कारतूस देने की बात स्वीकार की है. अपने 12 पेज के कबूलनामे में नवीन कुमार ने स्वीकार किया कि तर्कशास्त्री प्रोफ़ेसर केएस भगवान की हत्या करने की योजना थी.

ये भी पढ़ें : योगीराज: सरकारी अस्पताल केे ICU का AC खराब होने से गर्मी से तड़पकर मर गए 5 मरीज

First published: 8 June 2018, 11:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी