Home » इंडिया » Former Arunachal Pradesh CM Kalikho Pul found dead
 

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम कलिखो पुल की मौत, पंखे से लटका मिला शव

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 August 2016, 16:01 IST
(पीटीआई)

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कलिखो पुल की मौत हो गई है. राजधानी ईटानगर के जिस बंगले में वो रहते थे वहां उनका शव पंखे से लटका पाया गया है. आशंका जताई जा रही है कि पुल ने खुदकुशी कर ली.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक पुल डिप्रेशन से पीड़ित थे और इसी वजह से उन्होंने सुसाइड कर लिया. पुल करीब छह महीने तक अरुणाचल प्रदेश में राजनीतिक संकट के दौरान मुख्यमंत्री रहे थे. पुल 47 साल के थे.

डिप्रेशन की वजह से खुदकुशी!

अरुणाचल प्रदेश के आठवें सीएम कलिखो पुल की अचानक मौत से परिवार समेत नेता भी सकते में हैं. शुरुआती मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अवसाद में होने की वजह से पुल ने मौत को गले लगा लिया.

ईटानगर के बंगले में उनका शव पंखे से लटका हुआ पाया गया. सोमवार रात को कलिखो पुल के खुदकुशी करने की आशंका जताई जा रही है. पुलिस घटनाक्रम की छानबीन कर रही है.

पुल ने जब खुदकुशी की, उस वक्त उनकी पत्नी बंगले के ही दूसरे कमरे में मौजूद थी. कलिखो पुल ईटानगर के इस घर में अपने पांच बच्चों के साथ रह रहे थे.

अरुणाचल के 8वें सीएम थे पुल

कलिखो पुल 19 फरवरी 2016 को अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे. जुलाई तक उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी संभाली.

सुप्रीम कोर्ट ने पिछले महीने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए राज्य में नबाम तुकी की सरकार को बहाल करने का आदेश दिया था. जिसके बाद पुल को सत्ता छोड़नी पड़ी थी.

हालांकि कांग्रेस ने नबाम तुकी की जगह पूर्व सीएम दोरजी खांडू के पुत्र पेमा खांडू को विधायक दल का नेता चुनकर मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी सौंपी. कलिखो पुल उन 30 बागी कांग्रेस विधायकों में शामिल थे, जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद दोबारा पार्टी का दामन थाम लिया.

तीन दिन के राजकीय शोक का एलान

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी ने कहा, "यह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि युवा नेता कलिखो पुल अब हमारे बीच में नहीं हैं. ईश्वर उनके परिवार को शक्ति प्रदान करे. यह पूरे अरुणाचल प्रदेश के लिए नुकसान है."

पूर्व सीएम तुकी ने साथ ही कहा, "कांग्रेस पार्टी दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के साथ खड़ी है." इस बीच अरुणाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक का एलान किया है. साथ ही पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार होगा.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पुल के निधन पर संवेदना प्रकट की है. ट्विटर पर राहुल गांधी ने लिखा, "कलिखो पुल जी के असमय निधन से स्तब्ध हूं. उनकी मौत पर मुझे गहरा दुख है. मेरी शोक संवेदना उनके परिवार और करीबी लोगों के साथ है."

इस बीच कलिखो पुल की मौत पर राजनीतिक हलकों से शोक-संवेदना का सिलसिला जारी है. पीएमओ में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने पुल की असमय मौत पर गहरा दुख जताया है.

जितेंद्र सिंह ने कहा, "हमारी गहरी शोक संवेदनाएं दिवंगत कलिखो पुल के परिवार के साथ हैं. हम पूर्वोत्तर के लोगों के साथ दुख की इस घड़ी में खड़े हैं."

First published: 9 August 2016, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी