Home » इंडिया » Former CJI Gogoi's statement - I will come to Delhi and take oath then I will tell why I am going to Rajya Sabha
 

दिल्ली आकर शपथ लेने दीजिये, फिर बताऊंगा क्यों जा रहा रहा हूं राज्यसभा: रंजन गोगोई

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2020, 15:38 IST

भारत के पूर्व चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया (CJI) रंजन गोगोई को राष्ट्रपति द्वारा ऊपरी सदन राज्यसभा के लिए मनोनीत करने के बाद शुरू हुए विवाद के बीच उनकी प्रतिक्रिया सामने आयी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा ''मैं कल दिल्ली जाऊंगा. पहले मुझे शपथ लेने दीजिए फिर मैं मीडिया से विस्तार से बात करूंगा कि मैंने यह क्यों स्वीकार किया और मैं राज्यसभा क्यों जा रहा हूं''.

सोमवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा एक अभूतपूर्व निर्णय में उन्हें राज्यसभा भेजे जाने के फैसले के बाद विवाद छिड़ गया था. कई विपक्षी नेताओं ने गोगोई के चयन पर सवाल उठाये थे. रंजन गोगोई ने असम के गुवाहाटी में संवाददाताओं से मंगलवार को बात की. जस्टिस गोगोई पिछले साल नवंबर में लगभग 13 महीने तक सुप्रीम कोर्ट की अगुवाई करने के बाद सेवानिवृत्त हुए थे.

रंजन गोगोई चार सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों में से एक थे, जिन्होंने जनवरी 2018 में पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की थी. उस वक्त दीपक मिश्रा मुख्य न्यायाधीश थे. उन्होंने आरोप लगाया था कि वह चुनिंदा मामलों को अपने पसंदीदा जजों को सौंप रहे हैं. यह पहली बार है जब किसी मुख्य न्यायाधीश (CJI) को राज्यसभा के लिए नामित किया गया है.

कुछ दशक पहले पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंगनाथ मिश्रा कांग्रेस में शामिल हुए थे और संसद सदस्य बने थे. 1991 में सेवानिवृत्त हुए जस्टिस मिश्रा 1998 में राज्यसभा के लिए मनोनीत हुए और 2004 तक रहे. बाद में भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश पी. सतशिवम को नरेंद्र मोदी सरकार ने केरल का राज्यपाल बनाया.

पूर्व CJI गोगोई को राज्यसभा भेजे जाने पर हंगामा, साथी जज रहे जस्टिस लोकुर ने भी दी प्रतिक्रिया

First published: 17 March 2020, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी