Home » इंडिया » Former Defence Minister George Fernandes passes away at the age of 88
 

नहीं रहे पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस, आपातकाल का डटकर किया था विरोध

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2019, 10:41 IST
(File Photo)

भारत के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस का आज 88 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. लम्बे समय से बीमार चल रहे फर्नांडिस ने आज सुबह दिल्ली में अंतिम सांस ली. फर्नांडिस लम्बे समय से अल्ज़ाइमर बीमारी से पीड़ित थे. अटल बिहारी सरकार में जॉर्ज फर्नांडिस ने रक्षा मंत्री का पदभार सम्भाला था.

फर्नांडिस इमरजेंसी के खिलाफ डटकर खड़े होने वाले कद्दावर नेताओं में से एक थे. इमर्जेंसी के बाद साल 1977 का लोकसभा चुनाव फर्नांडिस ने जेल में रहते हुए ही लड़ा था. इतना ही नहीं मुजफ्फरपुर लोकसभा सीट से लड़े चुनाव में उन्होने रिकॉर्ड वोटों से जीत हासिल की थी.

फर्नांडिस के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने शोक जताते हुए ट्वीट पर कहा,''जॉर्ज साहब ने भारत की बेहतरीन लीडरशिप का प्रतिनिधत्व किया. वह बेबाक और निर्भिक थे. उन्होंने देश के लिए अमूल्य योगदान दिया. वह गरीबों की सबसे मजबूत आवाज थे. उनके निधन से दुखी हूं.''

 

फर्नांडिस ने रक्षा मंत्रालय के साथ उद्योग मंत्रालय जैसे कई अहम विभाग भी संभाले थे. फर्नांडिस का जन्म 1930 को कर्नाटक में हुआ था. उन्हें 10 भाषाओं का ज्ञान था. वह हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, मराठी, कन्नड़, उर्दू, मलयाली, तुलु, कोंकणी और लैटिन भाषा के जानकार थे. कहा जाता है कि उनका नाम किंग जॉर्ज फिफ्थ के नाम पर रखा गया था क्योंकि उनकी मां किंग जॉर्ज की बड़ी प्रशंसक थीं.

First published: 29 January 2019, 10:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी