Home » इंडिया » Former MP and MLA from Odisha Narayan Sahu quit politics and now pursuing PhD
 

इस पूर्व सांसद ने पढ़ाई के लिए छोड़ दी राजनीति, अब हॉस्टल में रहकर कर रहे हैं PhD

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 January 2019, 13:19 IST

आज के दौर में अच्छे खासे पढ़े लिखे युवा राजनीति में अपना करियर बनाना चाहते हैं, लेकिन पूर्व सांसद और विधायक रह चुके एक नेताजी ने पढ़ाई के लिए राजनीति छोड़कर सबको हैरान कर दिया. उड़ीसा से सांसद और विधायक रह चुके 80 वर्षीय नारायण साहू ने राजनीति छोड़ बाकायदा विश्वविद्यालय से पीएचडी में एडमिशन ले लिया है.

उड़ीसा के नारायण साहू एक बार सांसद और दो बार विधायक रह चुके हैं. फिलहाल वह भुवनेश्वर के उत्कल विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहे हैं. साहू दो बार पल्लाहारा से विधायक और एक बार देवगढ़ से सांसद रह चुके हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए साहू ने बताया कि उन्होंने राजनीति छोड़कर पढ़ाई पर अपना ध्यान केंद्रित किया.

नारायण साहू ने कहा, "मुझे शुरुआत में राजनीति से बेहद प्यार था. लेकिन जब मैंने राजनीति में गलत होता देखा तो मैं बेचैन हो गया. इसके बाद मैंने राजनीति छोड़ दी और फिर बतौर छात्र खुद में सुधार लाने का फैसला किया."

साहू ने आगे कहा, "राजनीति में किसी नियम, कानून और सिद्धांत का पालन नहीं किया जाता. इसलिए मैंने इसे छोड़ने का फैसला किया. वो मेरे जीवन का सबसे खुशी का दिन था जब मुझे विश्वविद्यालय में एडमिशन मिला." 

पढ़ें- 'सवर्ण जातियों को 10 फीसदी आरक्षण देना मोदी सरकार का 56 इंची फैसला'

साहू हॉस्टल में ही रहकर अपनी पीएचडी की पढ़ाई पूरी कर रहे हैं. यहां वह अन्य छात्रों की तरह साधारण रूम में रहते हैं. बता दें कि साल 1963 में उन्होंने रेवेनशॉ विश्वविद्यालय से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन किया है. इसके बाद साल 2011 में उन्होंने उत्कल विश्वविद्यालय से पहले पोस्ट-ग्रेजुएशन किया और फिर यहीं से 2012 में एमफिल किया. इसके बाद साल 2016 में उन्होंने पीएचडी की पढ़ाई शुरू की और अब उनका पूरा ध्यान इसे पूरा करने पर है.

First published: 8 January 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी