Home » इंडिया » Former president Pranab Mukherjee will address RSS cadres in Nagpur on June 7
 

स्वयंसेवकों को संबोधित करने RSS हेडक्वाटर जाएंगे प्रणब मुखर्जी, भागवत से करेंगे मुलाकात

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2018, 10:55 IST

देश के पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है. खबर है कि वह जल्द ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के काडरों को संबोधित करने आरएसएस हेडक्वाटर नागपुर जा सकते हैं. दरअसल, आरएसएस ने 7 जून को अंतिम वर्ष के स्वयंसेवकों के विदाई संबोधन के लिए पूर्व राष्ट्रपति को आमंत्रित किया है. इस कार्यक्रम में देशभर से 45 साल से कम उम्र के करीब 800 कार्यकर्ता आरएसएस हेडक्वार्टर कैंप में शामिल होंगे.

बता दें कि प्रणब मुखर्जी कांग्रेस के साथ 1969 से जुड़े हुए हैं तब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने राज्यसभा सदस्य चुने जाने में उनकी मदद की थी. वह कांग्रेस के बड़े नेता और विश्वसनीय नेताओं में से एक थे.

 

केंद्रीय वित्तमंत्री के रूप में प्रणब का पहला कार्यकाल 1982-84 तक रहा. इंदिरा की हत्या के बाद प्रणब अलग-थलग पड़ गए. एक वक्त तो उन्हें प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार भी माना जाने लगा था. 1986 में उन्होंने राष्ट्रीय समाजवादी कांग्रेस पार्टी बनाई, लेकिन फिर वह कांग्रेस में शामिल हुए और पार्टी का विलय हो गया. 2012 तक वह कांग्रेस में वह संकटमोचन का काम करते रहे और 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे.

कांग्रेस और आरएसएस दो विपरीत विचारधारा वाले संगठन रहे हैं. आरएसएस के मुख्यालय नागपुर में हर साल ऐसा कार्यक्रम होता आया है. इससे पहले इस कार्यक्रम का नाम ऑफिसर्स ट्रैनिंग था. लेकिन अब इसका नाम बदलकर संघ शिक्षा वर्ग कर दिया गया है. शिक्षा ग्रहण करने के बाद आरएसएस के स्वयंसेवक पूर्णकालिक प्रचारक बन सकते हैं. इसके बाद ये प्रचारक आजीवन देश में संघ की विचारधारा के साथ काम करते हैं.

पढ़ें- EC का राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे की जानकरी देने से इन्कार, बताया- RTI से बाहर

जब प्रणब मुखर्जी रायसीना हिल्स में रहते थे, तब आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत एक बार उनसे मिलने पहुंचे थे. नागपुर के आरएसएस कार्यकर्ताओं ने कहा कि इसकी घोषणा उचित समय पर की जाएगी. हालांकि उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि पूर्व राष्ट्रपति को इसके लिए न्योता भेजा गया है.दो दिन पहले ही रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण आरएसएस के नागपुर के मुख्यालय में पहुंची थीं. यहां पर उन्होंने तीसरी साल के ट्रेनी स्वयंसेवकों को संबोधित किया था और आरएसएस के जनरल सेक्रेटरी भैय्या जी जोशी से मुलाकात की.

First published: 28 May 2018, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी