Home » इंडिया » Former Union Minister Jaswant Singh passes away at 82 sick for a long time
 

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का 82 साल की उम्र में निधन, PM मोदी ने जताया दुख

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 September 2020, 10:06 IST

Former Union Minister Jaswant Singh passes away: पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह (Jaswant Singh) का 82 साल की उम्र में निधन हो गया. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) उनके निधन पर दुख जताया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने एक ट्वीट कर कहा, 'जसवंत सिंह जी ने पहले एक सैनिक के रूप में और बाद में राजनीति के साथ अपने लंबे जुड़ाव के दौरान देश की सेवा पूरी मेहनत से की. अटल जी की सरकार के दौरान उन्होंने महत्वपूर्ण विभागों को संभाला और वित्त, रक्षा और बाहरी मामलों की दुनिया में एक मजबूत छाप छोड़ी. उनके निधन से दुखी हूं.'

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'जसवंत सिंह जी को राजनीति और समाज के मामलों पर उनके अनूठे दृष्टिकोण के लिए याद किया जाएगा. उन्होंने बीजेपी को मजबूत बनाने में भी योगदान दिया. मैं हमेशा उनके साथ हमारी बातचीत को याद रखूंगा. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ओम शांति.'


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जसवंत सिंह के निधन पर दुख जताते हुए एक ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि, 'अनुभवी बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री श्री जसवंत सिंह जी के निधन से गहरा दुख हुआ. उन्होंने रक्षा मंत्रालय के प्रभारी सहित कई क्षमताओं में देश की सेवा की. उन्होंने खुद को एक प्रभावी मंत्री और सांसद के रूप में प्रतिष्ठित किया. जसवंत सिंह जी को उनकी बौद्धिक क्षमताओं और देश की सेवा में तारकीय रिकॉर्ड के लिए याद किया जाएगा. उन्होंने राजस्थान में बीजेपी को मजबूत करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. इस दुख की घड़ी में उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ॐ शांति.'

उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सिंह के निधन पर शोक जताया. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, 'पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता श्री जसवंत सिंह जी के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ. प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें व परिजनों को इस आघात को सहने की क्षमता प्रदान करें. ॐ शांति.'

UNGC में पीएम मोदी ने साधा चीन पर निशाना, कहा- हम विकास के नाम पर पड़ोसियों को मजबूर नहीं करते

बता दें कि जसवंत सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्‍व वाली एनडीए सरकार में 1996 से 2004 के बीच रक्षा, विदेश और वित्‍त मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली. लेकिन साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें टिकट नहीं दिया. इस बात से आहत होकर उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. उसी साल उन्‍हें सिर में गंभीर चोटें आई, तब से वह कोमा में थे.

Akali Dal quits NDA: कृषि बिल के विरोध में अकाली दल ने NDA से तोड़ा नाता, ऐसा रहा BJP के साथ 23 साल लंबा सफर

NIA के हत्थे चढ़ा अल-कायदा का दसवां आतंकवादी, भारत में बड़े हमले की बना रहे थे योजना

उन्होंने भारतीय सेना में भी अपनी सेवाएं दी लेकिन बाद में वह राजनीति में भाग्य आजमाने आ गए. वह बीजेपी की स्‍थापना करने वाले नेताओं में शामिल रहे. उन्होंने राज्‍यसभा और लोकसभा, दोनों सदनों में बीजेपी का प्रतिनिधित्‍व किया. वित्‍त मंत्री रहते हुए जसवंत सिंह ने ही वैट यानी स्‍टेट वैल्‍यू ऐडेड टैक्‍स (VAT) की शुरुआत की थी.

Coronavirus: BJP नेता उमा भारती हुईं कोविड-19 पॉजिटिव, पहाड़ों की यात्रा से लौटते समय हुईं अस्वस्थ

First published: 27 September 2020, 9:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी