Home » इंडिया » Free travel for women in DTC Buses effected from today
 

भैया दूज पर केजरीवाल का महिलाओं को तोहफा, DTC और क्लस्टर बसों में आज से मुफ्त हुई यात्रा

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 October 2019, 10:10 IST

भैया दूज के मौके पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं को तोहफा दिया है. दरअसल, डीटीसी की बसों में आज से महिलाओं के लिए यात्रा मुफ्त हो गई. इसी के साथ दिल्ली एनसीआर के शहरों गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत की लाखों महिलाएं मुफ्त यात्रा का लाभ उठा सकेंगी. मुफ्त यात्रा दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और क्लस्टर बसों मिलेगी. बता दें कि परिवहन विभाग में सचिव रेणु शर्मा ने इससे संबंधित फाइल को मंजूरी दे दी. वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की महिलाओं को मुफ्त सफर के लिए बधाई दी है.

बता दें कि आज से यानी मंगलवार से दिल्ली-एनसीआर में डीटीसी की एसी और नॉन एसी बसों के अलावा दिल्ली में चलने वाली क्लस्टर बसों में सफर करने वाली महिलाओं से कोई किराया नहीं लिया जाएगा. इस योजना के तहत महिलाओं को एकतरफा यात्रा का पास दिया जाएगा. ये पास पिंक यानी गुलाबी रंग का होगा. महिलाओं को ये पास बस में मौजूद कंडक्टर से लेना होगा. जिसके लिए उन्हें कोई शुल्क नहीं देना होगा. ये पास उसी बस में मान्य होगा जिसमें महिला यात्रा कर रही हो. दूसरी बस में उन्हें दूसरा पास लेना होगा. उस बस में उसे पास के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा.

बता दें कि महिलायों को यात्रा के दौरान पास लेना अनिवार्य है. अगर वह पास नहीं लेती हैं तो वह बिना टिकट मानी जाएंगी और जुर्माने के साथ उनपर कार्रवाई भी होगी. गौरतलब है कि डीटीसी बसों में रोजाना औसतन 31 लाख और क्लस्टर बसों में 12 लाख लोग सफर करते हैं. इनमें करीब 30 फीसद महिला यात्री होती हैं.

इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं की सुरक्षा का भी ध्यान रखा है. बता दें कि सीएम केजरीवाल ने सोमवार को त्यागराज स्टेडियम में घोषणा की कि अब दिल्ली की हर बस में मार्शल तैनात होंगे. दिल्ली की बसों में सफर करने वाली किसी भी महिला के साथ कोई अनहोनी होती है तो आरोपी बच नहीं पाएंगे. इस मौके पर केजरीवाल ने कहा कि महिलाओं के लिए मुफ्त बस सेवा योजना की सफलता के बाद बुजुर्गो और छात्रों के लिए भी इसे लागू किया जाएगा.

सीएम केजरीवाल ने कहा है कि एक नवंबर से हर डीटीसी व क्लस्टर बस में एक मार्शल तैनात रहेगा. बता दें कि दिल्ली सरकार ने महिला सुरक्षा के लिए 13 हजार मार्शलों की नियुक्ति की है. छह हजार मार्शलों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि पूरी दुनिया में दिल्ली पहला ऐसा शहर बन गया है जहां हर बस में एक मार्शल तैनात रहेगा. इनमें 10 प्रतिशत महिला मार्शल हैं. उन्हें विशेष प्रशिक्षण दिया गया है. कुल मार्शलों में से छह हजार सिविल डिफेंस के कार्यकर्ता व सात हजार पूर्व होमगार्ड हैं.

बोरवेल में फंसे दो साल के सुजीत विल्सन की मौत, तीन दिन तक लड़ता रहा जिंदगी की जंग

दिवाली पर केजरीवाल का 50 लाख लोगों को बड़ा तोहफा, न्यूनतम मजदूरी में किया इतना इजाफा

First published: 29 October 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी