Home » इंडिया » From Last 8 years 526 Pakistani waiting to get Indian Citizenship
 

8 सालों से भारत की नागरिकता पाने के इंतजार में हैं 526 पाकिस्तानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 October 2018, 10:52 IST
(File Photo)

गृह मंत्रालय की एक रिपोर्ट के अनुसार 526 पाकिस्तानी 8 सालों से भारत की नागरिकता पाने के इन्तजार में हैं. भारत की नागरिकता पाने के लिए कुल 1,084 आवेदनों में से 526 पाकिस्तान से हैं. ये सभी आवेदन 2011 के पहले आए हुए हैं. और इनमे से करीब आधे पाकिस्तानी लोगों की तरफ से हैं.

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के आधार पर पता चलता है कि इन आवेदनों में से 103 अफगानिस्तान से, 72 ईरान से और 41 बांग्लादेश से हैं. वहीं 30 मलेशिया से हैं और 24 ब्रिटिश आवेदक भी हैं. 13 श्रीलंका और 7 आवेदन तिब्बत से भी आये हैं. इन आवेदनों में 8 चीन से भी हैं.

गौैरतलब है कि भारतीय नागरिकता देने का अधिकार गृह मंत्रालय के पास है. इन आवेदनों के बारे में कोई भी निर्णय राज्य सरकार और इंटेलिजेंस ब्यूरो के वेरिफिकेशन रिपोर्ट्स की जांच के बाद ही लिया जाता है. भारतीय नागरिकता जन्म, वंश, पंजीकरण और प्राकृतिककरण द्वारा अधिग्रहित की जाती है.

साल 2016 में गृह मंत्रालय ने नागरिकता देने का अधिकार 7 राज्यों के 16 जिला कलेक्टर्स को दिया गया था. जो कि भारत में रह रहे पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के गैर मुस्लिमों को नागरिकता प्रदान करने का निर्णय लेंगे, इस मामले में मंत्रालय ने पिछले हफ्ते ही एक नोटिफिकेशन जारी किया था कि इस लोगों की नागरिकता सम्बन्धी साडी प्रक्रिया का विवरण ऑनलाइन उपलब्ध कराया जाए.

नागरिकता अमेंडमेंट बिल

एक संसदीय समिति नागरिकता संशोधन विधेयक 2016 रही है. जिसमें 2014 से पहले भारत आये पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के छह अल्पसंख्यकों- हिंदुओं, जैन, सिख, पारसी, ईसाई और बौद्धों के नागरिकता आवेदन हैं.

भारतीय नागरिकता एक्ट, 1955 के अंतर्गत प्राकृतिककरण से आधार पर नागरिकता हासिल करने के लिए एक शर्त है कि आवेदक पिछले 12 महीनों से भारत रहा हो और 14 सालों में काम से कम 11 साल भारत में निवास किया हो.
2015 में पाकिस्तानी गायक अदनान सामी को इसी आधार पर भारत की नागरिकता प्रदान की गई थी.

First published: 29 October 2018, 10:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी