Home » इंडिया » Future Tense For 21 AAP Lawmakers After President's No To Kejriwal Bill
 

दिल्ली: केजरीवाल सरकार को झटका, 21 आप विधायकों की सदस्यता पर संकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2016, 9:55 IST
(फाइल फोटो)

दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार को एक बड़ा झटका लगा है. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिल्ली सरकार के संसदीय सचिवों को लाभ के पद से अलग रखने वाले बिल को मंज़ूरी देने से मना कर दिया है.

दरअसल आम आदमी पार्टी की सरकार ने 21 विधायकों के संसदीय सचिव के पद को लाभ के पद से अलग करने का प्रस्ताव वाला बिल विधानसभा से पारित किया था, लेकिन राष्ट्रपति ने इस पर दस्तखत करने से इनकार कर दिया है.

संसदीय सचिव बिल को मंजूरी नहीं

ऐसे में आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों की सदस्यता पर सवाल खड़े हो गए हैं, अगर इन सभी विधायकों की सदस्यता रद्द होती है, तो दोबारा 21 सीटों पर विधानसभा चुनाव कराया जा सकता है.

इस बीच बिल को मंजूरी न मिलने के बाद आम आदमी पार्टी की आपात बैठक हुई. बैठक में बिल को राष्ट्रपति की मंजूरी न मिलने के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया गया.

वहीं सभी 21 विधायक अब चुनाव आयोग जाने की तैयारी कर रहे हैं. वहीं राष्ट्रपति के फैसले के खिलाफ पार्टी सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी में भी है.

ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का मामला

अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में 2015 में दोबारा सरकार गठन के बाद अपने 21 विधायकों को संसदीय सचिव का पद दिया था, लेकिन वह ऑफिस ऑफ प्रॉफिट (लाभ का पद) की श्रेणी में आ गया.

इस मामले में विपक्ष ने केजरीवाल सरकार पर काफ़ी सवाल उठाए, जिसके बाद राज्य सरकार अपने विधायकों को बचाने के लिए संसदीय सचिव के पद को लाभ के पद से दूर रखने के लिए एक बिल लेकर आई.

सोमवार को इस बिल को राष्ट्रपति ने मंज़ूरी देने से इनकार कर दिया, जिसके बाद से आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों की सदस्यता पर बड़ा संकट खड़ा हो गया है.

केजरीवाल का पीएम पर वार

इस बीच संसदीय सचिवों को लाभ के पद से अलग रखने वाले बिल को राष्ट्रपति की मंजूरी न मिलने के बाद अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर निशाना साधा है. केजरीवाल ने लिखा कि मोदी जी लोकतंत्र का सम्मान नहीं करते, डरते हैं तो सिर्फ आम आदमी पार्टी से.

केजरीवाल ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, "किसी एमएलए को एक पैसा नहीं दिया, कोई गाड़ी, बंगला-कुछ नहीं दिया. सब एमएलए फ़्री में काम कर रहे थे. मोदी जी कहते- सब घर बैठो, कोई काम नहीं करेगा."

सीएम केजरीवाल ने अपने अगले ट्वीट में कहा, "एक एमएलए को बिजली पे लगा रखा था, एक को पानी पे, एक को अस्पतालों पे, एक को स्कूल पे. मोदी जी कहते हैं- ना काम करूंगा, ना करने दूंगा."

सिलसिलेवार तरीके से ट्वीट करते हुए केजरीवाल ने पीएम मोदी पर निशाना साधा. अगले ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा, "एक एमएलए बेचारा रोज़ अपना पेट्रोल खर्च करके अस्पतालों के चक्कर लगाता था. बताओ क्या ग़लत करता था? मोदी जी ने उसको घर बिठा दिया."

केजरीवाल ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, "दिल्ली में हो रहे अच्छे कामों से मोदी जी घबरा रहे हैं."

First published: 14 June 2016, 9:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी