Home » इंडिया » Gang of thieves steals diesel from HPCL pipeline in Jaipur
 

तेल चोरी करने के लिए बिछाई पाइप लाइन, फिर हिंदुस्तान पेट्रोलियम को लगा दिया 110 करोड़ का चूना

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2019, 12:11 IST

चोरी करने के लिए चोर ना जाने कौन-कौन से तरीकों का प्रयोग करते हैं. ऐसा ही एक मामला राजस्थान की राजधानी जयपुर से सामने आया है. जहां चोरों ने हिंदुस्तान पेट्रोलियम की पाइप लाइन में सेंध लगाकर करोड़ों रुपये का डीजल चोरी कर लिया. डीजल चोरी का ये सिलसिला कोई एक दो महीने से नहीं बल्कि पिछले पांच साल से चल रहा था. डीजल चोरों ने कंपनी को करीब 110 करोड़ रुपये की चपत लगा दी. डीजल चोर चोरी के डीजल को सस्ते दामों पर किसानों और पेट्रोल पंपों और दुकानदारों को बेच दिया करते थे.

राजस्थान पुलिस ने इस गिरोह के पांच सदस्यों का गिरफ्तार किया है. पुलिस पूछताछ में पता चला कि इन लोगों ने अपनी खुद की तेल कंपनी बना रखी थी और चोरी का डीजल हिंदुस्तान पेट्रोलियम लिखकर ग्राहकों तक पहुंचाया करते थे. पांच लोगों के इस गिरोह के लिए 50 अन्य लोग भी काम किया करते थे.

पूछताछ में पता चला है कि इस गिरोह में पेट्रोलियम कंपनी के कुछ सेवानिनवृत कर्मचारियों भी मिलीभगत कर रहे थे. सेवानिवृत कर्मचारियों से यह गिरोह नियमित रूप से टेक्निकल मार्गदर्शन लेता रहता था. पुलिस और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के अधिकारियों की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि इस गिरोह ने कंपनी को पांच साल में करीब 110 करोड़ रूपए का चूना लगा दिया.

वहीं अब चोरी का डीजल खरीदने वाले 25 पेट्रोल पंप संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है. ये पूरा मामला जयपुर के हरमाड़ा थाना क्षेत्र का है. जहां पांच साल से डीजल चोरीकर सस्ते दामों पर बेचा जा रहा था. इस मामले की जानकारी खुद तेल कंपनी को भी नहीं थी. जयपुर पुलिस ने कार्रवाई कर इस गिरोह का पर्दाफाश किया है. पुलिस कार्रवाई की भनक लगते ही गिरोह का सरगना फरार हो गया.

जयपुर वेस्ट डीसीपी विकास शर्मा के मुताबिक, इस गिरोह के सरगना बलजीत सिंह, राकेश दुबे और सरदार सिंह हैं. इन लोगों ने जयपुर के राजवास इलाके में एक मकान किराए पर लिया था. जहां से हिंदुस्तान पेट्रोलियम की डीजल पाइप लाइन गुजर रही है. इन लोगों ने कुछ तकनिकी जानकारी वाले लोगों से भी मदद ली. उसके बाद किराए के मकान से लेकर तेल कंपनी की मुख्य पाइप लाइन तक सुरंग बनाई और वॉल्व जोड़कर पाइप लाइन बिछा दी. यहीं से पांच साल तक डीजल की चोरी का खेल होता रहा.

बूंद-बूंद को तरह रही चेन्नई की जल्द बुझेगी प्यास, एक करोड़ लीटर पानी लेकर पहुंचेगी ट्रेन

First published: 22 June 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी