Home » इंडिया » Ganga and Yamuna is most polluted river list in country incuding 323 small river
 

जहर से भी जहरीला हो चुका है मां गंगा का पानी, जानवरों को भी नहलाने लायक नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 December 2018, 13:10 IST

देश की जीवनदायिनी कही जाने वाली 62 फीसदी नदियां भयंकर रूप से प्रदूषित हो चुकी हैं. आप जानकर आश्चर्य रह जाएंगे कि जिस मां गंगा को साफ करने के लिए केंद्र सरकार हजारों करोड़ों रुपये खर्च करती है उसका पानी नहाने लायक भी नहीं है. यह जानकारी केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने एक आरटीआई के जवाब में दी है.

आरटीआई में पता चला है कि गंगा और यमुना का पानी इस हद तक खराब है कि इनमें नहाया भी नहीं जा सकता. नदियों के किनारे स्थित बड़े शहर सबसे ज्यादा प्रदूषण की वजह हैं. अधिकांश शहरों में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट नहीं है. 

यही नहीं देश की लगभग 223 नदियों का पानी इस हद तक प्रदूषित है कि उनसे आचमन भी नहीं किया जा सकता. जिस गंगा और यमुना के लिए केंद्र सरकार हर साल हजारों अरबों करोड़ खर्च करती है वह भयंकर रूप से प्रदूषित हैं. जो 62 फीसदी नदियां भयंकर रूप से प्रदूषित हैं उनमें गंगा और यमुना समेत इनकी सहायक नदियां भी शामिल हैं.

पढ़ें- बिहार: लोकसभा चुनाव से पहले JDU और BJP में बड़ा बवाल, नीतीश के खास प्रशांत किशोर बने वजह !

देश की 521 नदियों के पानी की मॉनिटरिंग करने वाले प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बताया कि देश की सिर्फ 198 नदियां स्वच्छ हैं. जो छोटी नदियां हैं. वहीं बड़ी नदियों का पानी प्रदूषण की चपेट में है. प्रदूषण का लेवल बढ़ने से नदियों के पानी में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो गयी है.

ऑक्सीजन की मात्रा कम होने की वजह से जल में रहने वाले जीवों के अस्तित्व पर संकट आ गया है. नदी में मल-मूत्र के अलावा मानव और पशुओं के शव तथा कूड़े-कचड़े का प्रभाव नदियों के संतुलन को प्रभावित कर रहा है. 

पढ़ें- अयोध्या: Google Maps ने विवादित जमीन पर लिखा 'मंदिर यहीं बनेगा', मच गया बवाल

नदियों का सबसे बुरा हाल महाराष्ट्र में है. आप जानकर चौंक जाएंगे कि राज्य की सिर्फ 7 नदियां ही स्वच्छ हैं, वहीं 45 नदियों का पानी भयंकर प्रदूषित है. वहीं उत्तर प्रदेश की स्थिति भी बदतर है. यहां कि 11 नदियां प्रदूषित हैं, जबकि सिर्फ 4 स्वच्छ पाई गयी हैं. सबसे ज्यादा आश्चर्यजनक उत्तराखंड के आंकड़े हैं. यहां की 9 नदियां प्रदूषित हैं, जबकि 3 ही स्वच्छ हैं. बिहार की 3 और झारखंड की 6 नदियां प्रदूषित हैं. दक्षिण-पूर्व भारत में सबसे ज्यादा स्वच्छ नदियां हैं.

First published: 3 December 2018, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी