Home » इंडिया » Gauri Lankesh murder: Members of Abhinav Bharat trained Sanatan Sanstha to make bombs, says report
 

गौरी लंकेश मर्डर : SIT रिपोर्ट में खुलासा- अभिनव भारत के सदस्यों ने दी सनातन संस्था को बम बनाने की ट्रेनिंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2019, 12:34 IST

कर्नाटक पुलिस ने कहा कि हिंदूवादी संगठन अभिनव भारत के चार लापता सदस्यों ने देशभर में 2011 से 2016 तक गुप्त शिविरों में बम बनाने में सनातन संस्था समूह से जुड़े कई संदिग्धों को प्रशिक्षित किया है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार गौरी लंकेश हत्या मामले में बेंगलुरु की अदालत में पेश किए गए दस्तावेजों में पुलिस ने यह दावा किया. अभिनव भारत के फरार सदस्य समझौता एक्सप्रेस, मक्का मस्जिद, अजमेर दरगाह और मालेगांव विस्फोटों में अपनी कथित भूमिका के लिए वांछित हैं. इनमें से दो, रामजी कलसांगरा और संदीप डांगे को 'घोषित अपराधी' घोषित किया गया है.

भोपाल से भारतीय जनता पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं. सितंबर 2017 में गौरी लंकेश की हत्या की जांच करने वाली विशेष जांच टीम ने आरोप लगाया है कि गिरफ्तार किए गए सनातन संस्था से जुड़े तीन लोगों और शिविरों में भाग लेने वाले चार गवाहों ने कहा कि एक 'बाबाजी' और चार 'गुरुजी' शिविरों में मौजूद थे.

 

अजमेर दरगाह विस्फोटों से जुड़े 'बाबाजी' की पहचान सुरेश नायर के रूप में की गई जिन्हें नवंबर 2018 में गिरफ्तार किया गया था. द इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा कि कैंप में भाग लेने वाले तीन अन्य बम विशेषज्ञों की पहचान डांगे, कलसंगारा और अश्विनी चौहान के रूप में की गई है. एक अन्य बम विशेषज्ञ प्रताप हाजरा हैं, जो पश्चिम बंगाल में हिंदुत्व संगठन भवानी सेना से जुड़े हैं.

पुलिस ने कहा कि सनातन संस्था ने फायरआर्म्स और विस्फोटक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए पूरे भारत में 19 शिविरों का आयोजन किया. पांच बम विशेषज्ञों ने महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में पांच शिविरों में भाग लिया. शिविरों ने दर्जनों लोगों को प्रशिक्षण प्रदान किया, जिन्हें नरेंद्र दाभोलकर, गोविंद पानसरे, कन्नड़ विद्वान एमएम कलबुर्गी और गौरी लंकेश की हत्या के आरोपी सनातन संस्था की गुप्त इकाई द्वारा भर्ती किया गया था.

इन शिविरों में शामिल होने वाले संदिग्धों में, अमित दिगवेकर, कलस्कर, पंगरकर, सूर्यवंशी, गणेश मिस्किन, अमित बद्दी और भारत कर्न की पहचान की गई है. इस बीच अभिनव भारत ने पांच प्रशिक्षण शिविर - 2011 और जनवरी 2015 में जालना, अगस्त 2015 में मंगलुरु, नवंबर 2015 में अहमदाबाद और जनवरी 2016 में नासिक में आयोजित किये.

 

First published: 9 May 2019, 12:34 IST
 
अगली कहानी