Home » इंडिया » general dalbir controversial remark on vk singh
 

जनरल दलबीर सिंह सुहाग: वीके सिंह मेरा प्रमोशन रोकना चाहते थे

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(पीटीआई)

सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करके आरोप लगाया है कि पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह ने उनकी प्रोन्नति रोकने की कोशिश की थी. 

अंग्रेजी समाचार पत्र इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने यह बात बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में अपनी ओर से दाखिल किए हलफनामे में कही है. सुहाग के हलफनामे में लिखा, "साल 2012 में मुझे उस वक्त के सेना प्रमुख द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा था. जिसका एकमात्र उद्देश्य मेरी प्रोन्नति को रोकना था, ताकि मैं आर्मी चीफ न बन पाऊं. उनके द्वारा मेरे खिलाफ कई तरह के बेबुनियाद आरोप भी लगाए गए थे."

दलबीर सिंह सुहाग ने यह हलफनामा एक याचिका के जवाब में दाखिल किया है. यह याचिका लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) रवि दस्ताने की तरफ से डाली गई थी. उस याचिका में आरोप लगाया गया है कि जनरल दलबीर सिंह सुहाग को पक्षपात पूर्ण तरीके से सेना प्रमुख बनाया गया था.

गौरतलब है कि सुहाग के नेतृत्व वाली एक यूनिट पर आरोप था कि उन्होंने अप्रैल से मई 2012 के बीच पूर्वोत्तर क्षेत्र में हत्याएं और लूटपाट की थीं. इसके लिए उस वक्त के सेना प्रमुख वीके सिंह ने सुहाग के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उनकी प्रोन्नति पर रोक लगा दी थी. यह विवाद तब से ही चल रहा है. वहीं, वीके सिंह अपनी कार्रवाई को हमेशा जायज बताते रहे हैं.

First published: 18 August 2016, 10:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी