Home » इंडिया » Ghulam Nabi Azad: People have been killed in all 10 districts of J&K, maximum damage was done in 4 districts of South Kashmir
 

कश्मीर पर राज्यसभा में चर्चा, आजाद बोले 90 से ज्यादा बुरे घाटी के हालात

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:48 IST

कश्मीर घाटी में पिछले दस दिन से जारी तनाव पर राज्यसभा में चर्चा हुई. इस दौरान राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्य के हालात को लेकर महबूबा मुफ्ती सरकार और केंद्र को कठघरे में खड़ा किया.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में कश्मीर पर चर्चा के लिए नोटिस दिया था. संसद में इस मुद्दे पर सबसे पहले आजाद को बोलने का मौका मिला.

गुलाम नबी आजाद जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं. आजाद ने कहा कि न तो उनके और न ही उमर अब्दुल्ला के कार्यकाल में इस तरह के बुरे हालात थे. आजाद ने हालांकि सरकार को भरोसा दिया कि आतंकवाद को खत्म करने के लिए कांग्रेस पार्टी सरकार के साथ है. एक नजर उनके संबोधन पर: 

'आतंकियों की तरह जनता पर गोली न चले'

  • कश्मीर घाटी के हालात 90 के दौर से भी ज्यादा खराब
  • कश्मीर घाटी के 10 जिलों में लोगों ने जान गंवाई है.
  • दक्षिण कश्मीर के चार जिलों में सबसे ज्यादा नुकसान.
  • क्या स्थानीय लोगों से आतंकियों जैसा बर्ताव होना चाहिए?
  • क्या आतंकियों की तरह निर्दोष जनता पर गोली चलनी चाहिए?
  • आतंकियों और आम जनता के बीच फर्क होना चाहिए या नहीं?
  • आतंकवाद को खत्म करने के लिए आपके साथ हैं.
  • आतंकवाद के खात्मे के लिए सरकार के साथ खड़े हैं.
  • कश्मीर में आम जनता के साथ ऐसे बर्ताव का समर्थन नहीं.
  • माफ कीजिए हम उसमें शामिल नहीं होना चाहेंगे आपके साथ.
  • कोई भी सरकार भरोसे और विश्वास पर चलती है.
  • जम्मू-कश्मीर के लोगों में वर्तमान सरकार से अविश्वास का भाव है.
  • मैं यह नहीं कहता कि कांग्रेस राज में कश्मीरियों को पूर्ण विश्वास था.
  • लेकिन उस दौरान कुछ हद तक लोगों में ऐसी भावना थी.
  • क्या वजह है कि 10 दिन कर्फ्यू के बावजूद माहौल ठंडा नहीं है?
  • जख्म इतना गहरा हो गया है कि मामूली इलाज से कुछ नहीं हो रहा.
First published: 18 July 2016, 3:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी