Home » इंडिया » giriraj singh: two child norm needed to keep every religion in india
 

गिरिराज सिंह: सभी धर्मों के लिए दो बच्चों की नीति लागू हो

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2016, 12:11 IST

केंद्रीय मंत्री और बिहार के नवादा से सांसद गिरिराज सिंह ने एक बार फिर फिर विवादित बयान दिया है. गिरिराज ने कहा है कि अगर भारत ने अपनी जनसंख्या नीति नहीं बदली तो देश की बेटियां सुरक्षित नहीं रह पाएंगी.

गिरिराज ने कहा कि हर धर्म के लिए दो बच्चों की नीति को लागू किया जाना चाहिए नहीं तो बेटियों को पाकिस्तान की तरह पर्दे में रखना पड़ेगा.

बिहार के बगहा में आयोजित एक सांस्कृतिक यात्रा के कार्यक्रम के दौरान गिरिराज ने ये बयान दिया. गिरिराज ने कहा कि हिंदू के दो बेटे हों और मुसलमान के भी दो ही बेटे होने चाहिए.

साथ ही गिरिराज ने कहा, "हिंदुओं की आबादी घट रही है. बिहार में सात जिले ऐसे हैं, जहां हमारी जनसंख्या कम होती जा रही है. जनसंख्या नियंत्रण के नियम को बदलना होगा."

अपने भाषण के दौरान गिरिराज ने बिहार के किशनगंज और अररिया जिलों का जिक्र करते हुए कहा कि इन जिलों में मुस्लिम आबादी, हिंदू जनसंख्या के मुकाबले तेजी से बढ़ रही है.

giriraj-singh


'दो बच्चों का कानून बने'


गिरिराज जब ये बयान दे रहे थे उस दौरान बीजेपी के स्थानीय सांसद सतीश दुबे भी मंच पर मौजूद थे. गिरिराज सिंह ने कहा' "हम जंबूद्वीप और आर्यावर्त पहले ही खो चुके हैं, अगर जनसंख्या नीति पर काम नहीं हुआ तो जल्द भारतवर्ष को भी खो देंगे."

पढ़ें:'इशरत जहां मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार माफी मांगें'

गिरिराज सिंह ने कहा कि जनसंख्या पर नियंत्रण के लिए बहुत जरूरी है कि जो दो बच्चों का कानून ना माने उनके ऊपर कड़ी कार्रवाई हो. उनके वोटिंग अधिकार को भी खत्म कर दिया जाए. साथ ही कानूनी और आर्थिक कार्रवाई भी होनी चाहिए.

गिरिराज सिंह ने विवादित भाषण के बाद सफाई देते हुए कहा कि भारत में हिन्दुओं की गिरती जनसंख्या हम सबके लिए एक चिंता का विषय है. 

First published: 21 April 2016, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी