Home » इंडिया » Go air pilots shutdown wrong engine says dgca report
 

उड़ान के दौरान पायलट से हो गई बड़ी चूक, खराब की जगह बंद कर दिया सही इंजन का बटन और फिर...

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2019, 16:12 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

किसी विमान की उड़ान के दौरान अगर एक इंजन में कुछ खराबी आ जाए तो पायलट तुरंत दूसरा इंजन चालू कर देते हैं. ऐसे में अगर पायलट से गलती से सही इंजन का बटन ही दब जाए तो यकीनन यात्रियों का जान अटक जाती है. ऐसा ही कुछ हुआ गो एयर की एक फ्लाइट के साथ. जब दिल्ली से मुंबई जा रही फ्लाइट के पायट्स से एक गलती हो गई.

दरअसल, गो एयर की उड़ान संख्या A320 के एक इंजन में खराबी आ गई. तब पायलट बड़ी गलती कर बैठे. इस फ्लाइट के इंजन से कोई पक्षी टकरा गया जिससे एक इंजन में खराबी आ गई. उसके बाद पायलटों ने गलत के बजाय सही इंजन को बंद कर दिया. उस वक्त विमान करीब 3100 फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था.

जब 3330 फीट की ऊंचाई पर भी दिक्कत दूर नहीं हुई तो विमान को वापस दिल्ली एयरपोर्ट पर लाया गया. हैरानी की बात तो ये है कि विमान खराब इंजन के सहारे करीब तीन मिनट तक उड़ता रहा. इस विमान में 156 यात्री सवार थेबता दें कि ये मामला 21 जून, 2017 की सुबह 5.58 बजे का है.

इस मामले में डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन यानि DGCA की रिपोर्ट अभी आई है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि उड़ान के दौरान पक्षी नंबर दो इंजन से टकरा गया और तेज आवाज आने लगी. जिसके बाद नंबर दो इंजन बंद करने का फैसला लिया गया.

दरअसल, पायलटों को लगा कि ऊंचाई पर पहुंचने के बाद ये समस्या हल हो जाएगी. लेकिन गलती से उन्होंने नंबर एक इंजन बंद को कर दिया था. जब उन्हें 3100 फीट की ऊंचाई पर अपनी गलती का अहसास हुआ तो नंबर एक इंजन को दोबारा शुरू किया गया, लेकिन वह तत्काल चालू नहीं हुआ.

पायलटों ने इसके बाद काफी कोशिश की, तब जाकर 3108 फीट की ऊंचाई पर इंजन ने काम करना शुरू किया. उसके बाद विमान को वापस दिल्ली लाने का फैसला किया गयाहैरानी की बात ये है कि जिस वक्त विमान ने लैंड किया तब उसका नंबर एक इंजन ही काम कर रहा था. जबकि नंबर दो इंजन पर खून के धब्बे मिले. इंजन के दो ब्लेड पक्षी के टकराने से खराब हो गए थे. अब डीजीसीए ने पायलटों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं.

ये भी पढ़ें- 20 हजार फुट की ऊंचाई पर बंद हो गया विमान का इंजन, जानिए फिर हुआ क्या

First published: 6 February 2019, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी