गोवा संघ प्रमुख सुभाष वेलिंगकर की बर्खास्तगी के बाद बगावत, 400 कार्यकर्ताओं का सामूहिक इस्तीफा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:48 IST
(संघ )

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के द्वारा बुधवार को गोवा के अपने प्रदेश प्रमुख सुभाष वेलिंगकर को बीजेपी विरोधी रूख के कारण बर्खास्त कर दिया गया था. उसके विरोध में संघ के 400 से भी ज़्यादा कार्यकर्ताओं ने आज सामूहिक इस्तीफे की घोषणा कर दी है.

बताया जा रहा है कि संघ की राज्य इकाई के कई वरिष्ठ नेताओं की राजधानी पणजी के निकट एक स्कूल में छह घंटे से भी ज़्यादा समय तक चली बैठक के बाद कार्यकर्ताओं ने सामूहिक इस्तीफों की घोषणा की.

इस मामले में संघ के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "सभी जिला इकाइयों, जिला उप-इकाइयों तथा शाखाओं के सभी पदाधिकारियों तथा सैकड़ों अन्य ने इस्तीफा देने का फैसला किया है."

गौरतलब है कि सुभाष वेलिंगकर भारतीय भाषा सुरक्षा मंच नामक संगठन के भी प्रमुख हैं और वह लगातार प्रदेश बीजेपी सरकार की आलोचना करते रहे थे.

सुभाष वेलिंगकर ने पिछले सप्ताह बीजेपी के विरोध प्रदर्शन के दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के गोवा आगमन पर काले झंडे लहराए गए थे.

संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने वेलिंगकर की बर्खास्तगी की घोषणा करते हुए कहा था, " संघ गोवा में वेलिंगकर को सभी पदों और दायित्वों से मुक्त करता है. वह राजनीतिक गतिविधियों में संलिप्त होना चाहते थे और यह संघ के नियमों और परंपरा के खिलाफ है."

सुभाष वेलिंगकर ने गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा केंद्रीय रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर पर सीधे-सीधे आरोप लगाया था कि इन्होंने स्थानीय भाषाओं को स्कूलों में शिक्षा का माध्यम बनाने के बीजेपी द्वारा किए वादे से पलटकर 'जनता से विश्वासघात' किया है.

First published: 1 September 2016, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी