Home » इंडिया » Goa guv. Mridula Sinha : mom tried to abort me
 

गवर्नर मृदुला सिन्हा ने कहा कि 'मां तो मुझे गर्भ में ही मारना चाहती थीं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2016, 22:45 IST

गोवा की गवर्नर और हिंदी की जानीमानी साहित्यकार मृदला सिंहा ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में कहा कि उनकी मां ही उन्हें गर्भ में मार डालना चाहती थीं.

वाराणसी में 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान पर चर्चा करते हुए राज्यपाल सिंहा ने अपनी जीवन के एक रहस्य को सबके सामने रखा.

उन्होंने अपनी मां का जिक्र करते हुए यह कहा कि, 'जब मेरी मां 40 साल की उम्र में गर्भवती हो गईं तो उन्होंने लाज के मारे गर्भपात की दवा खा ली थी. लेकिन मेरे पिता ने समाज की चिंता किए बगैर उन्हें तुरंत ही गांव के पास स्थित शहर ले गए ताकि वह सुरक्षित तरीके से मुझे जन्म दे सकें'

हिंदी साहित्य में कई रचनाओं को कलमबद्ध करने वाली गोवा की राज्यपाल मृदला सिंहा प्रधानमंत्री मोदी की 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान की जमकर तारीफ करते हुए कहा, 'मैंने जब प्रधानमंत्री मोदी को बच्चियों को बचाने की बात करते हुए सुना तो मुझे याद आया कि कैसे मेरे पिता ने उस समय मेरी जिंदगी बचाई थी, जब की मैंने जन्म भी नहीं लिया था.

मेरे पिता ने कई पुरानी मान्यताओं को तोड़ते हुए मुझे बेहतर शिक्षा देकर स्वतंत्र बनना सिखाया' सिंहा ने कार्यक्रम के दौरान सुझाव देते हुए कहा कि 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के नारे के साथ-साथ 'परिवार बचाओ' के नारे को भी इस अभियान में शामिल करना चाहिए.

मृदुला सिन्हा ने परिवार के विकास और उत्थान के लिए मनुष्य के भीतर संस्कार और जीवन मूल्यों के होने पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा कि मेरी ऐसी मान्यता है कि, 'परिवार के लिए दादा-दादी को होना बेहद जरूरी है. वो परिवार को एक सूत्र में बांध कर रखते हैं. मैं कई विश्वविद्यालयों में फैमिली मैनजमेंट कोर्स पढ़ाने का सुझाव देती हूं'.

उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल का असर अब गांवों में भी देखने को मिलता है. गांव के माता-पिता भी अपनी बेटियों को पढ़ाने के प्रति पहले से कहीं अधिक सजग नजर आते हैं'.

First published: 7 February 2016, 22:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी