Home » इंडिया » Good news, You will soon be able to run during air travel, TRAI internet in helecopterGood news, You will soon be able to run during air
 

खुशखबरी: जल्द हवाई यात्रा के दौरान चला पाएंगे मोबाइल में इन्टरनेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 January 2018, 12:33 IST

अब आप जल्द हवाई यात्रा के दौरान विमान में कंप्यूटर और मोबाइल का उपयोग कर पाएंगे. दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने एयरलाइनों को भारतीय हवाई इलाके में विमान में संचार या इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी (आईएफसी) की अनुमति देने की सिफारिश की है. गौरतलब है कि अभी तक हवाई यात्रा करने के दौरान इन्टरनेट की  सुविधा नहीं मिलती थी और आपको अपना फोन फ्लाइट मोड पर रखना पड़ता था.

हालांकि कई अन्य देशों जैसे तुर्की, चीन और आयरलैंड में हवाई यात्रा के दौरान इन्टरनेट की सुविधा मौजूद रहती है. ट्राई ने अपनी सिफारिशों में कहा है कि अब एयरलाइनें कुछ शर्तों के साथ अपने यात्रियों को इंटरनेट व वाई-फाई सेवाएं प्रदान कर सकेंगी.

3000 मीटर के बाद मिलेगा इन्टरनेट

ट्राई ने कहा कि मोबाइल इंटरनेट सेवाएं विमान के उड़ान भरने के 3000 मीटर से अधिक ऊंचाई पर उपलब्ध की जाएंगी. मोबाइल का इस्तेमाल विमान परिचालन और संचार में बाधक हो सकता है इसीलिए मोबाइल के इस्तेमाल के लिए 3000 मीटर की ऊंचाई रखी गई है.

ट्राई सिफारिश में कहा गया है कि भारतीय एयरस्पेस में इन-फ्लाइट सेवाओं के लिए "आईएफसी सर्विस प्रोवाइडर" के रूप में एक नई श्रेणी प्रारंभ की जा सकती है. जबकि पंजीयन शुल्क एक रुपए सालाना रखा जाए. भारतीय और विदेशी दोनों तरह के आईएफसी प्रोवाइडर के लिए एक जैसे नियम होंगे.

विदेशी कंपनियों को भारत में कानूनी रूप से ऐसी सेवाएं शुरू करने के लिए सैटेलाइट गेटवे स्थापित करना होगा जो इन-केबिन इंटरनेट यातायात को इंटरसेप्ट कर उन्हें मॉनिटर करेगा. इस सेवा के लिए भारतीय विदेशी सैटेलाइटों का इस्तेमाल किया जायेगा. भारतीय दूरसंचार विभाग ने 10 अगस्त 2017 को ट्राई से इस संबंध में सुझाव मांगे थे. विभाग इस प्रस्ताव पर विचार कर रहा है कि भारतीय हवाई क्षेत्र में उड़ने वाली सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में वॉइस, डेटा और वीडियो सेवाओं की अनुमति यात्रियों को दी जाए.

अभी इसलिए नहीं है अनुमति

मौजूदा समय में हवाई जहाज में उड़ान के दौरान मोबाइल फोन का उपयोग नहीं करने को कहा जाता है. इसका कारण यह है कि विमान के उड़ान के वक्त मोबाइल को चालू रखने से मोबाइल के सिग्नल विमान के संचार तंत्र को प्रभावित कर सकते हैं. इससे पायलट को नियंत्रण कक्ष से मिलने वाले संदेशों में बाधा पहुंच सकती है.

First published: 20 January 2018, 12:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी