Home » इंडिया » Gorakhpur: A 67-year old woman delivers a baby
 

यूपी के गोररखपुर में 67 साल की अध्यावती देवी बनीं मां

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2016, 17:59 IST
(एएनआई)

यूपी के गोररखपुर में एक 67 साल की महिला को मां बनने का सुख मिला है. गोरखपुर की अध्यावती देवी ने शादी के 48 साल बाद इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) तकनीक की मदद से बच्चे को जन्म दिया है.

बच्चे के जन्म से परिवार में खुशी का माहौल है. जच्चा-बच्चा दोनों अस्पताल में हैं और पूरी तरह से स्वस्थ हैं. उम्र के इस पड़ाव पर यह अपने तरह का पहला मामला नहीं है, लेकिन इस उम्र में टेस्ट ट्यूब से बच्चे को जन्म देना डॉक्टरों को भी आश्चर्यचकित कर रहा है.

हाल ही में अमृतसर की दलजिंदर कौर को 72 साल की उम्र में मां बनने का सुख नसीब हुआ था. 19 अप्रैल को हरियाणा के हिसार में उन्होंने बेटे को जन्म दिया था. दलजिंदर पिछले 3 साल से इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) ट्रीटमेंट ले रही थीं.

पढ़ें:70 साल की अमृतसर की दलजिंदर कौर बनीं मां

निसंतान दंपति के लिए आईवीएफ वरदान साबित हो रहा है. वहीं इसने एक नई बहस को भी जन्म दे दिया है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रजिस्ट्री ने दलजिंदर कौर के 72 साल की उम्र में मां बनने को अनैतिक कहा था.

आईवीएफ तकनीक महिलाओं के लिए वरदान साबित हो रही है. आईवीएफ वो प्रक्रिया है, जिसमें औरत का एग और मर्द का स्पर्म लेकर बॉडी के बाहर फर्टिलाइज करवाया जाता है. फर्टिलाइजेशन के बाद उसे महिला के गर्भाशय में रख दिया जाता है.

डॉक्‍टर आईवीएफ तकनीक को बेहतर और उपयोगी मानते हैं, लेकिन 50 साल से ज्यादा की उम्र की महिलाओं के लिए इस तकनीक के प्रयोग पर रोक लगाने की मांग हो रही है.

डॉक्‍टरों के मुताबिक आईवीएफ तकनीक एक उम्र की महिलाओं के लिए ही उचित है, क्‍योंकि अधिक उम्र में मां बनने से महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्‍चे की जान को खतरा अधिक रहता है.

First published: 24 May 2016, 17:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी