Home » इंडिया » gorkha janmukti morcha called darjeeling band
 

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के दार्जिलिंग बंद से सैलानियों की सांसत

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:24 IST
(पीटीआई)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के द्वारा दार्जलिंग के विकास कार्यों के लिए जारी विकास निधि को लेकर गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के प्रमुख बिमल गुरुंग ने आज यानी 28 सितंबर को दार्जिंलिग बंद का आह्वान किया है.

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के इस बंद से सैलानियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. खबरों के मुताबिक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि गोरखा क्षेत्र के विकास के लिए पिछले चार सालों में लगभग चार हजार करोड़ रुपये गोरखालैंड के क्षेत्रीय प्रशासन को दिए गए हैं.

ममता के दावे को गुरुंग ने किया खारिज

मुख्यमंत्री बनर्जी के इस बयान को सिरे से खारिज करते हुए गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता बिमल गुरुंग ने इसे पूरी तरह से गलत करार दिया है.

गुरुंग के मुताबिक राज्य सरकार से जीटीए को करीब 238 करोड़ रुपये ही मिले हैं. उन्होंने कहा था कि सीएम चार हजार करोड़ रुपये जारी होने के अपने दावे को साबित करें, वर्ना दार्जिलिंग अनिश्चित काल के लिए बंद रहेगा. गुरुंग की इस चेतावनी पर मुख्यमंत्री की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

बीते कुछ महीनों में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस गोरखा क्षेत्रों में अपने को मजबूत करने में लगी हुई है. वहीं आम जनता तृणमूल से नाराज बताई जाती है, क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि राजनीति से परे भी दार्जिलिंग की कई आम समस्याएं हैं.

नागरिकों का आरोप है कि गोरखा क्षेत्र में पीने का पानी, साफ-सफाई को लेकर ममता सरकार ने कभी ध्यान ही नहीं दिया.

First published: 28 September 2016, 1:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी