Home » इंडिया » Government looks for companies to build six Navy submarines in Rs 45,000-crore project
 

भारत बनाएगा 45,000 करोड़ की पनडुब्बियां, कंपनियों की खोज शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2019, 14:00 IST

रक्षा मंत्रालय ने रुचि रखने वाली भारतीय कंपनियों को सरकार के पी -75 (आई) प्रोजेक्ट के तहत पनडुब्बियों के निर्माण करने के लिए आमंत्रित किया है. सरकार इसके तहत रणनीतिक भागीदारों को शॉर्टलिस्ट करने करना चाहती है. इस प्रोजरक्ट की लागत लगभग 45,000 करोड़ रुपये है. इच्छुक भारतीय कंपनियां दो महीने के भीतर सरकार से संपर्क कर सकती हैं.

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि रक्षा अधिग्रहण परिषद ने 31 जनवरी को प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी. यह 111 नौसेना यूटिलिटी हेलीकॉप्टरों की खरीद के बाद रणनीतिक साझेदारी मॉडल के तहत दूसरी परियोजना है. बयान में कहा गया, "यह परियोजना नवीनतम पनडुब्बी डिजाइन के अलावा भारत में पनडुब्बियों के स्वदेशी डिजाइन और निर्माण क्षमता को एक बड़ा बढ़ावा देगी."

 

सरकार ने कहा कि इसका उद्देश्य भारत को पनडुब्बी डिजाइन और उत्पादन का वैश्विक केंद्र बनाना है. हिन्द महासागर अन्य क्षेत्रों ने मिल रही अन्य देशों की चुनौती के लिए यह प्रोजेक्ट महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है. भारतीय नौसेना के पास भविष्य में छह और पनडुब्बियों के निर्माण का विकल्प होगा.

रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "कुल मिलाकर उद्देश्य सशस्त्र बलों की भविष्य की जरूरतों के लिए जटिल हथियार प्रणालियों के डिजाइन, विकास और निर्माण के लिए निजी क्षेत्र में स्वदेशी क्षमताओं का निर्माण करना है." यह व्यापक राष्ट्रीय उद्देश्यों को पूरा करने, आत्मनिर्भरता को प्रोत्साहित करने और सरकार के 'मेक इन इंडिया' पहल के साथ रक्षा क्षेत्र को संरेखित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा."

DRI ने अदालत को बताया- अडानी समूह कर रहा है जांच में बाधा डालने की कोशिश

First published: 21 June 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी