Home » इंडिया » Government orders stocking up of LPG for two months, school buildings for security forces in Kashmir
 

चीन से तनाव के बीच सरकार का आदेश, कश्मीर में किया जाए LPG का स्टॉक, सुरक्षाबलों के लिए खाली किए जाएं स्कूल

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 June 2020, 19:37 IST

India China Face OFF: लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना और भारतीय जवानों के बीच हुई हिसंक झड़प के बाद भारत और चीन की सीमा पर जबरदस्त तनाव है. इस तनाव के बीच जम्मू कश्मीर की सरकार ने जो आदेश दिए हैं उसके बाद स्थानिय निवासियों की चिंता एक बार फिर बढ़ गई है. द हिंदु की रिपोर्ट के अनुसार, कश्मीर घाटी में दो महीने के एलपीजी सिलेंडरों के स्टॉक और कारगिल से सटे गांदरबल में सुरक्षा बलों के स्कूलों को खाली करने के आदेश सरकार ने दिए हैं.

खबर के अनुसार, उपराज्यपाल जी.सी. मुर्मू ने 23 जून को एक बैठक के बाद "सबसे जरूरी मामले" बताते दुए निर्देश दिया है कि "घाटी में रसोई गैस के पर्याप्त स्टॉक सुनिश्चित किए जाएं क्योंकि भूस्खलन के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने के कारण आपूर्ति प्रभावित होती है."


खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ताओं के निदेशक के द्वारा पारित एक आदेश के अनुसार, तेल कंपनियों को रसोई गैस के पर्याप्त स्टॉक बनाने चाहिए जो दो महीने तक रह सकें. ऐसा पहली बार है जब प्रशासन ने गर्मी में एलपीजी सिलेंडरों के स्टॉक करने का निर्णय लिया है. आमतौर पर इस तरह की कवायद अक्टूबर-नवंबर में की जाती है जब कश्मीर घाटी में सर्दी का कहर शुरू होता है और राजमार्गों पर यातायात प्रभावित होता है.

रिपोर्ट की मानें तो एक अलग आदेश में पुलिस अधीक्षक गांदरबल ने जिले में 16 शैक्षणिक संस्थानों, जिनमें आईटीआई भवन, मध्य और उच्चतर माध्यमिक विद्यालय को खाली करने का अनुरोध किया है. पुलिस अधीक्षक ने जो आदेश दिया है उसके अनुसार अमरनाथ यात्रा -2020 के मद्देनजर, इन शैक्षिक केंद्रों को केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CRPF) कंपनियों के आवास के लिए उपलब्ध कराया जाए." हालांकि, कोरोना वायरस के असर के कारण इस साल अमरनाथ यात्रा के दौरान काफी कम लोगों के आने की संभावना है, ऐसे में इस आदेश पर सवाल खड़े हो रहे हैं.

बता दें, सरकार के इन आदेशों के बाद लोगों की चिंताएं बढ़ गई है. पिछले साल बालाकोट एयरस्ट्राइक और फिर जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने का फैसला करने के दौरान भी सरकार ने इस तरह के आदेश जारी किए थे.

भारत-चीन विवाद: PM मोदी के समर्थन में आए शरद पवार, कहा- लद्दाख प्रकरण सरकार की नाकामी नहीं

First published: 28 June 2020, 19:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी