Home » इंडिया » Govt. may be changed abortion laws in India
 

कुंवारी और सिंगल महिलाओं को भी मिल सकती है गर्भपात की इजाज़त

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 December 2016, 12:11 IST
(एजेंसी)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय जल्द ही गर्भपात के नियमों में बदलाव ला सकता है. बताया जा रहा है कि नये बदलाव के बाद संभवतः शादीशुदा महिलाओं के साथ-साथ कुंवारी और सिंगल महिलाएं भी अनचाहे गर्भ का अबॉर्शन करवा सकेंगी.

मंत्रालय के मुताबिक ऐसा कदम इसलिये उठाया जा सकता है, क्योंकि वर्तमान कानून में सिर्फ उन्हीं महिलाओं को अनचाहे गर्भ को अबार्शन करवाने की अनुमति है, जो कि शादीशुदा हैं. यह स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी ऐक्ट में संशोधन के लिए की जा रही सिफारिशों का परिणाम है.

खबरों के मुताबिक वर्तमान में अबॉर्शन के लिए एक डॉक्टर की आवश्यकता पड़ती है, जो बताता है कि क्यों अबॉर्शन जरूरी है.

देश में सेक्शुअली ऐक्टिव सिंगल और अविवाहित महिलाओं की बड़ी संख्या को देखते हुए सरकार अबॉर्शन के कानूनी दायरे को बढ़ाना चाहती है.

वहीं इस मामलों के जानकार लोगों का कहना है कि सरकार का यह एक प्रगतिशील कदम होगा और महिलाओं को अबॉर्शन के सुरक्षित और कानूनी विकल्प मुहैया करवाएगा.

स्वास्थ्य मंत्रालय की सिफारिश में कहा गया है कि सामान्य अबॉर्शन की ट्रेनिंग नर्सों को भी दी जानी चाहिए. एक अधिकारी ने बताया कि एक बार यह अमेंडमेंट बिल संसद से पास हो गया, मंत्रालय इससे जुड़े नियमों को सिलसिलेवार तरीके से सामने रखेगा.

कानून में होने वाले बदलाव के मामले में 'आईपीएएस' एनजीओ के प्रमुख विनोद कहते हैं, "यह संशोधन महिलाओं को सुरक्षित अबॉर्शन जैसी सहूलियतें देगा. हमें उम्मीद है कि मंत्रालय के द्वारा इस बिल को जल्द से जल्द संसद से पास करवा लिया जाएगा."

First published: 12 December 2016, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी