Home » इंडिया » GST: Goods and Services Tax midnight parliament session inside Central Hall's history
 

GST: जानें कितनी बार संसद के सेंट्रल हॉल में आधी रात को चला है सत्र

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2017, 16:35 IST

वस्तु एवं सेवा कर यानी GST आज रात (शुक्रवार) संसद का विशेष सत्र बुलाकर लॉन्च किया जा रहा है. आज़ाद भारत के इतिहास में यह चौथा मौका होगा, जब संसद के सेंट्रल हॉल में मिडनाइट सेशन आयोजित होगा. यह समारोह रात 11 बजे शुरू होगा. 

इस दौरान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और पीएम नरेंद्र मोदी का भाषण होगा. ठीक 12 बजे घंटी बजने के साथ ही GST लागू हो जाएगा. इसके लिए संसद को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है. इससे पहले 1997 में आजादी की स्वर्ण जयंती के मौके पर संसद का विशेष सत्र बुलाया गया था. यह कार्यक्रम 15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि की याद दिलाने वाला होगा, जब भारत अपने भविष्य की राह पर आगे निकला था.

इससे पहले तीन बार आधी रात को सेंट्रल हॉल में संसद चली है...

1. 14 अगस्त 1947 में सेंट्रल हॉल को कॉन्स्टिट्यूशन हॉल कहा जाता था. देश को आजादी मिलने जा रही थी. आधी रात को विशेष सत्र बुलाया गया. पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद आए और सबसे पहले वंदे मातरम गाया गया. इसके बाद राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री (जवाहर लाल नेहरू) ने स्पीच दी.

2. 14 अगस्त 1972 को आजादी मिलने के 25 साल पूरे होने के मौके पर भी संसद के सेंट्रल हॉल में आधी रात्रि को सत्र बुलाया गया. तब वीवी गिरी राष्ट्रपति थे, जबकि इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री थीं.

3. 14 अगस्त 1997 को आजादी की 50वीं सालगिरह के मौके पर आधी रात को संसद के केंद्रीय कक्ष (सेंट्रल हॉल) में विशेष सत्र बुलाया गया. उस समय इंद्र कुमार गुजराल पीएम थे और केआर नारायणन राष्ट्रपति थे.

First published: 30 June 2017, 12:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी