Home » इंडिया » gujarat assembly election 2017: Supreme Court refuses Congress plea to verify 20% of VVPAT slips with EVM votes
 

गुजरात चुनाव: सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की याचिका खारिज की, दखल देने से किया इनकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 December 2017, 17:33 IST

गुुजरात चुनाव को लेकर कांग्रेस ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. लेकिन कोर्ट ने उसकी उम्मीदों को तोड़ते हुए कांग्रेस को बड़ा झटका दिया. कोर्ट ने गुजरात विधानसभा चुनाव की मतगणना में दखल करने की कांग्रेस की याचिका को खारिज कर दिया. 

कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा था कि चुनाव आयोग को ये निर्देश दिया जाए कि 20 फीसदी मशीनों की गणना का वीवीपीएटी के पेपर ट्रेल से मिलान कराया जाए. दरअसल गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले और दूसरे चरण में कई जगहों पर ईवीएम में गड़बड़ी की खबरें आई थीं. 

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की याचिका खारिज करते हुए कहा कि गुजरात कांग्रेस चाहे तो चुनान सुधारों से संबंधित जनहित याचिका कोर्ट में दायर कर सकती है. गौरतलब है कि इस साल पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भी विपक्षी पार्टियों ने ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप लगाए थे.

पंजाब में अपेक्षित परिणान ना मिलने के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल जबकि यूपी में मायावती और योगी से पहले यूपी के मुख्यमंत्री रहे अखिलेश ने ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की बात कही थी. इसे चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया था.

गौरतलब है कि एग्जिट पोल में गुजरात में भाजपा की सरकार बनाने के अनुमान के बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने ईवीएम में गड़बड़ी की बात कही थी. हार्दिक ने ट्वीट कर कहा, "EVM में गड़बड़ी यह सवाल पर हंसी नहीं लेकिन हमें स्वतंत्र लोकतांत्रिक हिंदुस्तान में इस मुद्दे पर मंथन करना ज़रूरी है. जनता वोट देने के बाद भी चिंता करती है की क्या मेरा वोट सही रहेगा !!! यह सभी के लिए सोचने की बात है."

हालांकि कांग्रेस से पहले किसी राजनीतिक पार्टी ने अभी तक पर्चियों के मिलान की इस तरह की कोई मांग नहीं की थी. गुजरात के चुनाव नतीजे 18 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश के साथ आएंगे. हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव एक चरण में जबकि गुजरात में दो चरणों में हुआ. 

First published: 15 December 2017, 17:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी