Home » इंडिया » Gujarat Chief Minister Vijay Rupani resigned from his post a year before the assembly elections
 

गुजरात: अचानक नहीं दिया विजय रूपाणी ने इस्तीफा, पिछले साल लिखी गई थी इस्तीफे की पटकथा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2021, 20:58 IST

गुजरात में विधानसभा चुनाव के करीब 15 महीने शेष बचे हैं इससे पहले ही राज्य में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा देकर सबको चौंका दिया. शनिवार दोपहर बाद मुख्यमंत्री राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मिलने पहुंचे और उन्होंने अपना इस्तीफा उन्हेंं सौंप दिया. मुख्यमंत्री पद से रूपाणी के इस्तीफा देते ही गुजरात की राजनीतिक हलचल तेज हो गई. राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद विजय रूपाणी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया. इसी बीच गुजरात के नए मुख्यमंत्री के नामों की भी चर्चा होने लगी. इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल भी गांधीनगर स्थित बीजेपी कार्यालय पहुंच गए. सूत्रों के मुताबिक, रूपाणी के इस्तीफे के बाद कल विधायक दल की बैठक हो सकती है. जिसमें राज्य के नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा हो सकती है.

ऐसे तय हुआ विजय रूपाणी का इस्तीफा


रूपाणी के इस्तीफे के बाद अब राजनैतिक गलियारों में इस बात की चर्चा होने लगी है कि आखिर विजय रूपाणी ने अचानक से इस्तीफा क्यों दिया. तो आपको बता दें कि रुपाणी की इस्तीफा अचानक न हो कर कई महीनों पहले ही तय कर दिया गया था. विजय रूपाणी के इस्तीफे की पटकथा पिछले साल दिसंबर में ही लिखी जा चुकी थी. दरअसल, पिछले साल दिसंबर में पार्टी संगठन ने विजय रुपाणी के खिलाफ रिपोर्ट दी थी. जिसमें उनके कार्यकाल को संतोषजनक नहीं बताया गया था. उसके बाद तय हो गया था कि पार्टी गुजरात के मुख्यमंत्री को बदलेगी. विजय रुपाणी को तब बता दिया गया था कि आपके पांच साल पूरे होने के बाद पार्टी गुजरात को नया मुख्यमंत्री देगी.

बता दें कि पिछले महीने की सात तारीख को ही रुपाणी के कार्यकाल को पांच साल पूरे हुए थे. इसके बाद उनके जल्द इस्तीफे की बात भी सामने आने लगी थी. लेकिन उच्च स्तर पर लगातार बातचीत जारी रही और एक बार तो ऐसा लगा कि विजय रुपाणी अपने आप को सीएम पद पर बचा लेंगे. लेकिन ऐसा न हो सका और आखिरकार केंद्रीय नेतृत्व ने दो दिन पहले ही संगठन महामंत्री बीएल संतोष को गांधीनगर भेजकर इस्तीफे का समय और तारीख तय करवा दी. उसके बाद शनिवार को विजय रुपाणी ने गुजरात के सीएम पद से इस्तीफा दे दिया. इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की ये परंपरा रही है कि समय के साथ-साथ कार्यकर्ताओं के दायित्व भी बदलते रहते हैं. उन्होंने कहा कि ये हमारी पार्टी की विशेषता है कि जो दायित्व पार्टी द्वारा दिया जाता है उसे पूरे मनोयोग से पार्टी कार्यकर्ता उसका निर्वहन करते हैं.

गुजरात बीजेपी नेता यमल व्यास ने कहा कि हमें विश्वास है कि कल या परसों में नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर दी जाएगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली में केंद्रीय पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक होगी. नए निरीक्षकों के नाम दिल्ली से तय होंगे. उन्होंने कहा कि यहां के अगले मुख्यमंत्री का चुनाव यहां के विधायक करेंगे. ऐसा माना जा रहा है कि आगामी चुनाव में सत्ता विरोधी लहर को देखते हुए पार्टी ने यह कदम उठाया है. रुपाणी चौथे मुख्यमंत्री हैं जिसे बीजेपी ने मुख्यमंत्री पद से हटाया है. इससे पहले बीजेपी ने उत्तराखंड में दो मुख्यमंत्री बदले गए, जबकि कर्नाटक में बी. एस. येडियुरप्पा से राज्य की कमान छीन ली गई थी.

गुजरात के नए मुख्यमंत्री की रेस में ये नाम आगे

बीजेपी के वर्तमान गुजरात अध्यक्ष सी.आर. पाटिल, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया के नाम नए मुख्यमंत्री पद के लिए चर्चा में हैं. इसके साथ ही बीजेपी और आरएसएस के हलकों में मुख्यमंत्री पद के लिए कुछ और नामों की भी चर्चा है. इनमें गुजरात राज्य बीजेपी के उपाध्यक्ष गोरधन जदाफिया और केंद्रीय मत्स्य व पशुपालन पालन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला के नाम भी शामिल हैं.

COVID-19 Update: केरल में कोरोना के मामलों में आई कमी, देशभर मे पिछले 24 घंटों में आए 38 हजार नए केस

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद विजय रूपाणी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि, "मैंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष के मार्गदर्शन में पार्टी संगठन में काम करने की अपनी इच्छा के बारे में शीर्ष नेतृत्व को बता दिया है. बीजेपी प्रेक्षक यहां (गांधीनगर) आए थे और पार्टी जल्द ही नए मुख्यमंत्री के नाम पर फैसला करेगी."

भारत का अफगानिस्तान की तालिबान सरकार को मानने से इंकार, विदेश मंत्री ने कही ये बड़ी बात

First published: 11 September 2021, 20:58 IST
 
अगली कहानी