Home » इंडिया » Gujarat: CM suspends officer who alleged corruption in Yatradham projects
 

गुजरात : IAS अफसर ने लीक की भ्रष्टाचार की खबर, CM रूपानी ने कर दिया सस्पेंड

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2018, 10:52 IST

शुक्रवार को गुजरात सरकार ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए पवित्रा यत्रधाम विकास बोर्ड के पूर्व सचिव (GPYVB) अनिल पटेल को निलंबित कर दिया. हाल ही में अनिल पटेल का एक व्यक्ति के साथ ऑडियो टेप सामने आया, जिसमे राज्य के बहुचराजी, शबरीधाम, पावागढ़, रामेश्वर और द्वारका जैसे तीर्थस्थलों की विकास परियोजनाओं में अनियमितता और घोटाले की बात की गई थी.साथ सीएम रूपानी ने निर्देश दिया कि सतर्कता आयुक्त द्वारा आरोपों की जांच की जाए.

पटेल ने कहा कि उनके निलंबन की उन्हें कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा “सरकार को निलंबित करने का अधिकार है, मेरे पास इसे स्वीकार करने के अलावा और कोई चारा नहीं है. मैं इसे चुनौती नहीं दूंगा. मेरे लिए निलंबन एक सजा नहीं है.”

 

पटेल ने कहा "मुझे पता है कि एक सरकारी कर्मचारी होने के नाते मैंने अपने दर्द को व्यक्त किया जो आवश्यक था. लेकिन मैंने बातचीत में किसी अधिकारी का नाम नहीं लिया है. मैंने उन सभी अनुरोधों पर प्रतिक्रिया मांगी है जो मैंने किए हैं क्योंकि राज्य सरकार ने किसी को भी जवाब नहीं दिया है.”

पटेल को सरदार पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन (एसपीआईपीए), राजकोट में अतिरिक्त सचिव ग्रामीण विकास विभाग के अपने मौजूदा पद से तत्काल प्रभाव से स्थानांतरित कर दिया गया था, जहां वह 2016 से तैनात थे. सीएम ने पटेल की उपस्थिति की नियमित रूप से निगरानी के लिए सभी आवश्यक प्रबंध करने का भी आदेश दिया है.

First published: 29 December 2018, 10:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी