Home » इंडिया » gujarat election: bjp not releasing manifesto in gujarat election, congress vice president rahul gandhi attacks bjp
 

गुजरात चुनाव: भाजपा ने जारी नहीं किया घोषणा-पत्र, राहुल ने किया हमला

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2017, 12:57 IST

गुजरात विधानसभा के पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को वोटिंग है. गुजरात चुनाव में भाजपा एक तरफ जबरदस्त चुनाव प्रचार कर रही है. वहीं दूसरी तरफ भाजपा ने पहली बार एक परंपरा को तोड़ा. आमतौर पर चुनाव से पहले पार्टियां अपना घोषणा-पत्र जारी करती हैं. कांग्रेस ने इन चुनावों के लिए अपना घोषणा-पत्र जारी कर दिया है. इसमें कई लोकलुभावन वादें किये गए हैं.

भाजपा आम तौर पर पिछले कुछ चुनावों में घोषणा-पत्र की जगह विजन डाक्यूमेंट्स जारी कर रही है. लेकिन इस बार गुजरात में भाजपा ने अपनी रणनीति में बड़ा बदलाव करते हुए इसे जारी नहीं किया है. इस बार भाजपा ने गुजरात में होने विधानसभा चुनाव में ना घोषणा-पत्र और ना ही विजन डाक्यूमेंटस जारी किया है. इसे लेकर राज्य में राजनीति भी शुरु हो गई है.

क्या होता है मैनिफेस्टो?

चुनावों के दौरान जारी होने वाले घोषणा पत्र में कोई भी राजनीतिक पार्टी उन वादों को एलान करती है जिन्‍हें सरकार बनने के बाद वह अगले पांच सालों में पूरा करेगी. माना जाता है जनता को इससे पार्टियों की नीति को समझने में मदद मिलती हैं.

 

कांग्रेस ने इस मुद्दे पर भाजपा पर जबरदस्त हमला किया है. कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इसे जनता का अपमान बताया है. राहुल ने ट्वीट कर रहा है कि, "भाजपा ने गुजरात के लोगों के प्रति अविश्वसनीय अनादर दिखाया है. राज्य में प्रचार अभियान खत्म हो गया लेकिन लोगों के लिए अब तक घोषणापत्र का उल्लेख नहीं है. गुजरात के भविष्य के प्रति कोई विजन या विचार सामने नहीं रखे गये.

गुजरात कांग्रेस के सीनियर नेता और सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल ने भी भाजपा पर निशाना साधा है. अहमद पटेल ने कहा कि, भाजपा को जनता के सामने घोषणा पत्र रखने की कोई चिंता नहीं है. क्योंकि विकास उनके एजेंडे में नहीं है. वो 2012 में किये गए वादों पर जवाब नहीं देना चाहती है. उन्हें हार निश्चित दिख रही है.

First published: 8 December 2017, 12:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी