Home » इंडिया » Gujarat: Fir breaks out in Surat's ONGC Gas Plan Frequent blast
 

Fire in ONGC gas plant in Surat: सूरत में ओएनजीसी गैस प्लांट में लगी भीषण आग, दमकल की गाड़ियां आग बुझाने में लगीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2020, 7:55 IST

Fire in ONGC gas plant in Surat: गुजरात (Gujarat) के सूरत (Surat) में ओएनजीसी गैस प्लांट (ONGC Gas Plant) में भीषण आग (Massive Fire) लगने की खबर है. फायर ब्रिगेड (Fire Bridge) की गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश कर रही है. इस हादसे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. जानकारी के मुताबिक, बीती रात तकरीबन 3 बजे ONGC गैस प्लांट में भीषण आग लग गई. आग इतनी भयानक है कि प्लांट में अभी भी धमाके की आवाज सुनाई दे रही है. आग लगने की सूचना के तुरंत बाद फायर ब्रिगेड की गाडियां मौके पर पहुंच गईं और आग पर काबू पाने की कोशिश करने लगी.

हालांकि अभी तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका है. सूरत में ओएनजीसी गैस प्लांट में आग लगने की घटना का एक वीडियो न्यूज एजेंसी एएनआई ने शेयर किया है. जिसमें देखा जा सकता है कि गैस प्लांट में भीषण आग लगी हुई है और आग की तेज लपटें उठ रही हैं. बताया जा रहा है कि ONGC गैस प्लांट में इतनी तेज धमाका हुआ कि आसपास के गांव के घरों की खिड़कियं हिलने लगीं. फिलहाल अभी तक इस गैस प्लांट धमाके में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. सूरत के जिलाधिकारी धवल पटेल ने बताया कि 'आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है.


Time 100 most influential people: शाहीनबाग की दादी दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में शामिल

जिले के तहसीलदार और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर मौजूद हैं.' धवल पटेल का कहना है कि धमाके में अभी तक किसी के मारे जाने या घायल होने की कोई खबर सामने नहीं आई है. जिलाधिकारी के मुताबिक, धमाके की वजह का पता अभी तक नहीं लगाया जा सका है. सूरत के डीएम धवल पटेल का कहना है कि ONGC गैस प्लांट में लगी आग फिलहाल ऑन साइट इमरजेंसी की स्थिति में है.

Monsoon Session : संसद में तीन श्रम सुधार विधेयकों को मंजूरी, सरकार की अनुमति के बगैर कंपनियां कर पाएंगी छंटनी

COVID-19 : 28 सितंबर से चीन में विदेशियों की एंट्री शुरू, इन लोगों को मिलेगी आने की अनुमति

उनका कहना है कि ऑफ साइट इमरजेंसी नहीं होने के कारण आस-पास के लोगों को परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है. उन्होंने बताया कि किसी भी प्लांट में जब कोई भी बड़ी समस्या प्लांट के अंदर ही सीमित होती है तो इसे ऑन साइट इमरजेंसी कहते हैं, वहीं जब स्थिती ऑउट ऑफ कंट्रोल होकर प्लांट से बाहर तक फैल जाती है तो इसे ऑफ साइट इमरजेंसी कहा जाता है.

Union Minister Suresh Anghadi passed away: केंद्रीय रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगड़ी का कोरोना से निधन

First published: 24 September 2020, 7:56 IST
 
अगली कहानी