Home » इंडिया » Gujarat: Six Amul directors refused to attend Prime Minister Narendra Modi’s event
 

गुजरात: PM मोदी के अमूल कार्यक्रम का डेयरी के ही छह निदेशकों ने बड़ा आरोप लगाकर किया बहिष्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 October 2018, 14:01 IST

Amul Dairy Event: PM मोदी ने इस रविवार गुजरात के आणंद के पास मोगर में अमूल डेयरी के चॉकलेट संयंत्र का उद्घाटन किया था. पीएम के इस कार्यक्रम में डेयरी के ही 6 निदेशकों ने आने से मना कर दिया था. मोगर में हुए इस कार्यक्रम के दौरान अमूल डेयरी के 17 निदेशकों में 6 ने कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया. 

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, PM के इस कार्यक्रम में अमूल डेयरी के जो निदेशक दूर रहे उनमें उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह परमार का भी नाम है. डेयरी के उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह परमार के अलावा धीरूभाई चावड़ा, जुवान सिंह चौहान, राजू सिंह परमार, नीताबेन सोलंकी और चंदूभाई परमार ने भी पीएम के कार्यक्रम से दूरी बनाई.

इस दूरी को लेकर राजेंद्र सिंह ने बताया कि अमूल डेयरी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक को उन्होंने पहले ही सूचित कर दिया था कि उन्हें पीएम के कार्यक्रम से समस्या नहीं है. बल्कि समस्या इस बात को लेकर है कि इस समारोह को राजनीतिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए था.

पढ़ें- पीएम मोदी ने अपने गृह राज्य गुजरात में किया अमूल चॉकलेट प्लांट का उद्घाटन

परमार ने बताया कि वह 12 साल से अमूल डेयरी के उपाध्यक्ष हैं. उन्होंने बताया कि उनके पिता भी इस पद पर रह चुके हैं. इस दौरान कई प्रधानमंत्री अमूल के कार्यक्रमों में आ चुके हैं. लेकिन कभी इन कार्यक्रमों को राजनीतिक रंग नहीं दिया गया था. लेकिन इस बार के समारोह के निमंत्रण पत्रों में सिर्फ भाजपा नेताओं के ही नाम थे. 

पढ़ें- इंदौर में 50 लाख लोगों की जान थी खतरे में, मिला ऐसा 'मौत का सामान' जिससे आ जाती तबाही

उन्होंने बताया कि पूरा इलाका भाजपा के पोस्टरों से पटा हुआ था. इसके अलावा मंच पर भी भाजपा नेता ही बैठे हुए थे. वे सभी कार्यक्रम के बाद अपनी पीठ थपथपाते हुए दिखे. इस सब से अमूल को क्या मिला? कुछ भी नहीं. उन्होंने आरोप लगाया कि इस समारोह में अमूल से जुड़े दूध उत्पादक किसानों के 10-15 करोड़ रुपए बर्बाद कर दिए गए. 

First published: 1 October 2018, 14:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी