Home » इंडिया » Gujarat: Vadodara municipal corporation banned golgappa
 

देश में इस जगह गोलगप्पे खाने पर लगा बैन, वजह चौंकाने वाली

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2018, 19:08 IST
(file photo )

शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसने गोलगप्पे के चटखारे नहीं लिए होंगे. गोलगप्पों को देश के अलग अलग हिस्सों में अलग अलग नाम से जाना जाता है. गोलगप्पे का नाम सुनने से ही सबके मुंह में पानी आ जाता है. लेकिन वडोदरा में गोलगप्पों के नाम से ही लोगों को डर लगने लगा है. वड़ोदरा में गोलगप्पे बनाने में दूषित पदार्थों का इस्तेमाल किया जा रहा है. जिसको लेकर प्रशासन भी हरकत में आ गया है. वडोदरा म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के स्वास्थ्य विभाग ने गोलगप्पे बनाने पर छापेमारी की है. वड़ोदरा में गोलगप्पों की बिक्री पर रोक लगा दी गई है.

वडोदरा म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के स्वास्थ्य विभाग की टीम ने वडोदरा के हुजरात पागा, हाथीखाना, तुलसीवाडी, समा, छाणीगाँव, खोडियारनगर, नवायार्ड, वारसीया नरसिंह टेकरी, सुदामा नगर जेसे इलाकों में गोलगप्पे बनाने वाले 50 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की. इस दौरान गोलगप्पे बनाने की 4000 किलो गोलगप्पे, 3500 किलो आलू-चना, 20 किलो तेल ओर 1200 लीटर एसिड वाला पानी जब्त किया गया.

स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि मॉनसून का सीजन शुरू हो गया है. शहर में पानी से फैल रही बीमारियों को रोकने स्वच्छता अभियान के तहत गोलगप्पों की बिक्री पर पूरी तरह रोक लगाई गई है. गोलगप्पों के पानी से टाइफाइड, पीलिया, फूड पायजनिंग का खतरा रहता है. जिससे बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ जाता है. स्वास्थ्य की दृष्टि से शुरू किए गए इस अभियान को वडोदरा के लोगों से भी सराहना मिल रही है.

ये भी पढ़ें-   मेरठ में अंडरपास में डूबी स्कूली बस, ऐसे बचाई गई 28 बच्चों की जान

First published: 27 July 2018, 19:04 IST
 
अगली कहानी