Home » इंडिया » gujrat 9 newborns die in 24 hours in Ahmedabad civil hospital
 

गुजरात: सिविल अस्पताल में 24 घंटे में 9 नवजात शिशुओं की मौत, कांग्रेस ने किया विरोध

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 October 2017, 12:29 IST

गुजरात के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल असारवा सिविल हॉस्पिटल में 24 घंटों के अंदर नौ बच्चों की मौत से हड़कंप मच गया है. एक साथ इतनी बड़ी तादाद में बच्चों की मौत से हर कोई सकते में है. कांग्रेस ने बच्चों की मौत पर राज्य सरकार से जवाब मांगा है.

बच्चों की मौत के बाद किसी भी परिस्थिति से गुजरने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. हालांकि बच्चों की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है.

सूत्रों के मुताबिक जो नौ बच्चे 24 घंटों में मरे हैं, उनमें से चार बच्चों का जन्म सिविल अस्पताल में ही हुआ था. जबकि पांच बच्चे बाहरी अस्पतालों से सिविल हॉस्पिटल में रेफर किए गए थे. सूत्रों के मुताबिक इन बच्चों को कई गंभीर बीमारियां थीं और ये बेहद कमजोर भी थे.

गोरखपुर कांड की तरह ही इस घटना पर भी राजनीति शुरू हो चुकी है. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हुई इस घटना को विपक्ष भुनाने की कोशिश में है. कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने ट्वीट कर कहा कि गुजरात सरकार को इस घटना की जवाबदेही स्वीकार करनी होगी. 

कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने भी गुजरात की भाजपा सरकार को निशाने पर लिया है. मोढवाडिया ने कहा कि 24 घंटे में नौ बच्चों की मौत सुनकर दिमाम सुन्न हो गया है. यह घटना स्वास्थ्य मामलों में सरकार की सुस्ती और लापरवाही का नमूना है.

अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि नौ में से पांच बच्चों को गंभीर हालत में अस्पताल में रेफर किया गया था. यह सभी सेप्टिसीमिया से प्रभावित थे. जबकि चार बच्चों का जन्म अस्पताल में ही हुआ था. हालांकि इनका वजन सामान्य से काफी कम था. यह चारों ही बच्चे एक किलोग्राम से भी कम वजन के थे. इसके चलते इनकी स्थिति नाजुक थी. 

First published: 29 October 2017, 10:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी