Home » इंडिया » Gujrat high court permitted for live in relationship to a girl with her 19 years old boyfriend
 

हाईकोर्ट का फैसला- अपने से छोटे ब्यॉवफ्रेंड के साथ लिव इन में रह सकती है लड़की

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 August 2018, 14:00 IST

गुजरात हाई कोर्ट ने दो प्रेम करने वालों के पक्ष में एक फैसला सुनाया है. एक 20 साल की लड़की को गुजरात हाई कोर्ट ने इजाजत दी है कि वो अपने से उम्र में छोटे अपने प्रेमी के साथ रहने के लिए स्वतंत्र है. कोर्ट ने कहा है कि लड़की बिना शादी किए भी अपने बॉयफ्रेंड के साथ रह सकती है. कोर्ट ने कहा है कि अगर लड़की अपने परिवार के साथ नहीं रहना चाहती तो वो अपने बॉयफ्रेंड के साथ रह सकती हैं.

ये भी पढ़ें- इस महिला को बुर्का पहनना पड़ा महंगा, चुकाना पड़ा इतना बड़ा जुर्माना

कोर्ट ने ये भी साफ़ किया है कि लड़की बालिग है और वो अपनी मर्जी से कोई भी रिश्ता रख सकती है. गौरतलब है कि लड़की के बॉयफ्रेंड की उम्र लड़की से कम है. लड़के की उम्र केवल 19 साल है. और यही उन दोनों के रिश्ते बीच का सबसे बड़ा कानूनी पेंच है.

अदालत ने ये फैसला लड़के की ओर से दायर एक याचिका की सुनवाई में दिया है. कोर्ट ने ये कहा है कि बाल विवाह निषेध कानून के तहत लड़का 21 साल का होने तक शादी नहीं कर सकता. इस मामले में कोर्ट ने कहा है कि लड़की बालिग है और वो अपनी मर्जी से किसी के साथ भी रिश्ता रखने को स्वतंत्र है. और लड़की अगर अपने परिवार से सवतंत्र होकर रहना चाहती है तो वो रह सकती है. कोर्ट ने ये भी कहा है सरकार की ओर से उसे अनुरक्षण दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- बकरी ने बिना टिकट ट्रेन में किया सफर, रेलवे नीलामी करके वसूलेगी जुर्माना

इस बारे में 19 जुलाई को एक याचिका दायर की गयी थी जिसमे कहा गया यह कि लड़की के घर वाले लड़की को कैद रखते हैं और उसके बॉयफ्रेंड से उसे मिलने नहीं देते. लड़की बालिग है और वो अपने परिवार से स्वतंत्र होकर रहना चाहती है तो रह सकती है. लड़के की उम्र 21 साल से कम होने के कारण दोनों शादी नहीं कर सकते इसलिए प्रेमियों ने लिव इन कॉन्ट्रेक्ट साइन करने का फैसला किया. इसके लिए दोनों ने बाकायदा दस्तावेजी कार्रवाई भी की.

First published: 4 August 2018, 13:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी