Home » इंडिया » Gujarat High court says no to petitioner Zakia Jafri and teesta in Gujarat riots case
 

दंगों पर नरेंद्र मोदी की क्लीन चिट बरक़रार, ज़किया जाफ़री को झटका

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2017, 12:50 IST

गुजरात हाईकोर्ट ने एक अहम सुनवाई में कहा है कि 2002 में हुए गुजरात दंगों को लेकर तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी को मिली क्लीन चिट बरकरार रहेगी. याचिकाकर्ता ज़किया जाफ़री ने विशेष जांच दल पर आरोप लगाते हुए कहा था कि सही ढंग से जांच नहीं होने के कारण नरेंद्र मोदी और अन्य लोगों को क्लीन चिट मिली. मगर गुजरात हाईकोर्ट ने ज़किया जाफ़री की याचिका को ख़ारिज कर दिया है. हालांकि ज़किया जाफ़री के पास अभी भी मौक़ा है कि वह हाईकोर्ट के इस फैसले के ख़िलाफ़ अपील कर सकती हैं.

ज़किया जाफ़री गुजरात दंगों में मारे गए पूर्व सांसद एहसान जाफ़री की पत्नी हैं. ज़किया और सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के संगठन सिटीज़न फॉर जस्टिस एंड पीस ने एसआईटी से मिली क्लीन चिट पर अपील की थी. यह याचिका मजिस्ट्रेट के आदेश के खिलाफ आपराधिक पुनर्विचार के लिए दायर की थी.

इसमें मांग की गई थी कि तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी और कई आला अफ़सरों समेत 59 अन्य लोगों को दंगों की साज़िश में शामिल होने के लिए आरोपी बनाया जाए लेकिन याचिका खारिज होने से ज़किया और तीस्ता को तगड़ा झटका लगा है.

 

First published: 5 October 2017, 12:50 IST
 
अगली कहानी