Home » इंडिया » gulbarga case court today declared guilty punishment
 

गुजरात: गुलबर्ग सोसाइटी के गुनहगारों को आज सजा का एलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(फाइल फोटो)

गुजरात में 2002 के गोधरा कांड के बाद हुए गुलबर्ग सोसाइटी दंगे के मामले में आज अहमदाबाद की विशेष एसआईटी अदालत 24 दोषियों को सजा का एलान कर सकती है. दो जून को इस मामले में 24 आरोपियों को दोषी करार दिया गया था.

इस मामले में अभियोजन पक्ष ने अदालत से हत्या के 11 आरोपियों को सजा-ए-मौत की मांग की है, जबकि आरोपियों के वकील ने अदालत से नरमी बरतने की गुजारिश की है.

गुलबर्ग सोसाइटी दंगे के कुल 66 आरोपियों में से 6 की मुकदमे के दौरान ही मौत हो गई थी. जबकि 24 दोषियों में से 11 पर हत्या का आरोप लगाया गया है.

वहीं दूसरी तरफ अदालत ने विहिप नेता अतुल वैद्य समेत 13 अन्य आरोपियों को हल्के अपराधों का दोषी ठहराया था. अदालत ने इस मामले में 36 आरोपियों को बरी कर दिया था.

अदालत ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा था कि इस मामले में इन लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने का कोई साक्ष्य नहीं मिला है. इसलिए इन पर आईपीसी की धारा 120 बी के तहत लगे सभी आरोप हटाए जाते हैं.

जो लोग बरी किए गए हैं, उसमें बीजेपी के वर्तमान पार्षद बिपिन पटेल, गुलबर्ग सोसाइटी इलाके के तत्कालीन पुलिस निरीक्षक केजी एर्डा और कांग्रेस के पूर्व पार्षद मेघ सिंह चौधरी शामिल हैं.

गौरतलब है कि दो जून को विशेष सीबीआई न्यायाधीश पी बी देसाई ने गुलबर्ग सोसाइटी नरसंहार मामले में 66 आरोपियों में से 24 को दोषी ठहराया था. अहमदाबाद की गुलबर्ग सोसाइटी में 28 फरवरी 2002 को दंगाइयों ने कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी समेत 69 लोगों की नृशंस हत्या कर दी थी.

First published: 9 June 2016, 10:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी